जेएसपीएल की ब्लास्ट फर्नेस ने हासिल की बड़ी उपलब्धि

पूरी विश्व में चुनिंदा कंपनियों की ब्लास्ट फर्नेस के पास ही पल्वेराइज्ड कोल इंजेक्शन के इस उच्च स्तर को हासिल करने की क्षमता है

रायगढ। जिंदल स्टील एंड पॉवर लिमिटेड की ब्लास्ट फर्नेस टीम ने 11 जनवरी को 201 किलोग्राम उपलब्धि हासिल की है।

इसके साथ ही लगातार 4 दिनों तक जेएसपीएल की बीएफ टीम ने 190 किलोग्राम प्रति थर्म से अधिक पल्वेराइज्ड कोल इंजेक्शन के स्तर को बरकरार रखा है। पूरी विश्व में चुनिंदा कंपनियों की ब्लास्ट फर्नेस के पास ही पल्वेराइज्ड कोल इंजेक्शन के इस उच्च स्तर को हासिल करने की क्षमता है।

पल्वेराइज्ड कोल इंजेक्शन (पीसीआई) की प्रक्रिया में कोयले के बारीक कणों से बनाई गई गोलियों को बड़ी संख्या में ब्लास्ट फर्नेस में डाला जाता है। इससे फर्नेस को अपनी उष्मा की जरूरत को पूरा करने के लिए कार्बन का एक और स्त्रोत मिल जाता है।

साथ ही इससे इस्पात की उत्पादन प्रक्रिया भी तेज हो जाती है और तुलनात्मक रूप से महंगे कोक की जरूरत भी कम हो जाती है। इस तरह यह प्रक्रिया किफायती भी है तथा पर्यावरण संरक्षण की दृष्टि से भी बेहतर भी है ।

सफलता पर सभी टीम को दी बधाई

जेएसपीएल रायगढ़ के कार्यपालन निदेशक दिनेश कुमार सरावगी ने इस सफलता पर पूरी टीम को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि यह तकनीकी जगत के लिए बड़ी उपलब्धि है ।

उन्होंने विश्वास जताया कि जेएसपीएल रायगढ की टीम भविष्य में भी ऑपरेशनल एफिशिएंसी के नए कीर्तिमान रचेगी। उन्होंने ब्लास्ट फर्नेस की टीम के साथ केक काटकर इस उपलब्धियों की खुशियों को साझा भी किया।

1
Back to top button