वकील की टिप्पणी पर भड़के सुप्रीम कोर्ट के जज, कहा- कोर्ट से फेंक दिया जाएगा बाहर

नई दिल्ली। चीफ जस्टिस के खिलाफ यौन उत्पीड़न मामले को साजिश करार दिए जाने के दावों पर सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट के जज वकील की एक टिप्पणी से भड़क गए। जज ने अधिवक्ता की टिप्पणी पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि उन्हें अदालत से बाहर फेंक दिया जाएगा। दरअसल, सीजेआई के खिलाफ आरोपों में साजिश का दावा करने वाले वकील उत्सव सिंह बैंस ने आरोप लगाया था कि अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल उन्हें निजी तौर पर टारगेट कर रहे हैं।

बैंस के इस आरोप पर जस्टिस अरुण मिश्रा की अध्यक्षता वाली बेंच ने कहा कि वेणुगोपाल बार के बेहद सम्मानित सदस्यों में से एक हैं और उन्हें भी उनका सम्मान करना चाहिए। जस्टिस मिश्रा के अलावा आर.एफ. नरीमन और दीपक गुप्ता की सदस्यता वाली बेंच ने कहा, ‘आपको यह जानना चाहिए कि हमने उनसे सीखा है। आपको उनका सम्मान करना चाहिए।’

बैंस ने कोर्ट में जब कहा कि वेणुगोपाल उन्हें निजी तौर पर टारगेट कर रहे हैं तो जस्टिस नरीमन ने कहा, ‘आपको उन पर रत्ती भर भी संदेह नहीं करना चाहिए। उन्होंने कभी किसी पर निजी तौर पर हमला नहीं किया। वह बार के सबसे सम्मानित सदस्यों में से एक हैं। हमने भी उनसे सीखा है।’ जस्टिस नरीमन ने कहा, ‘वरना आपको कोर्ट से बाहर फेंक दिया जाएगा।’ जस्टिस ने कहा कि वेणुगोपाल सच्चे जेंटलमेन हैं। कोर्ट की फटकार झेलने वाले वकील बैंस ने कहा, ‘जस्टिस नरीमन ने जब उन्हें बाहर करने की बात कही तो कुछ देर बाद वह खुद ही कोर्ट से बाहर निकल गए।’

जस्टिस मिश्रा ने किया मामले को संभालने का प्रयास

हालांकि एक तरह से स्थिति को संभालने का प्रयास करते हुए जस्टिस मिश्रा ने कहा कि जस्टिस नरीमन के कहने का अर्थ यही है कि उन्हें वेणुगोपाल का सम्मान करना चाहिए। जस्टिस मिश्रा ने कहा, ‘हम सभी उनका बेहद सम्मान करते हैं। आप अभी युवा हैं और आपको यह बात समझनी चाहिए।’

Back to top button