27 जुलाई चंदग्रहण विशेष: सदी के सबसे लंबे चंद्रग्रहण पर टिकी दुनियाभर की निगाहें

पूर्ण चंद्रग्रहण को देखने के लिए कई तरह के इंतजाम किए गए

27 जुलाई को 21 वीं सदी का सबसे बड़ा चंदग्रहण है। आज के चंदग्रहण पर दुनियाभर की निगाहें टिकी है। भारत में चंदग्रहण पूर्ण रूप से लग रहा है।

देशभर के कई इलाके में पूर्ण चंद्रग्रहण को देखने के लिए कई तरह के इंतजाम किए गए हैं. बताया जा रहा है कि भारत में चंद्रग्रहण का असर देर रात 10.53 बजे से ही दिखना शुरू हो जाएगा।

इसके साथ आज के दिन दोपहर से मंदिरों के कपाट बंद हो जाएंगे। वहीं बनारस,इलाहाबाद,हरिद्वार में रोज होने वाली संध्य़ा आरती आज दोपहर में हो जाएगी।

भारत में देर रात से चंद्रग्रहण (Chandra grahan) का असर दिखना शुरू हो जाएगा. धीरे-धीरे चांद का रंग लाल होता जाएगा और एक समय ऐसा आएगा जब चांद पूरी तरह से गायब हो जाएगा.

चंद्रग्रहण 27 जुलाई को, जानें सूतक का समय

दूसरे दिन सुबह ग्रहण समाप्त होने के बाद नियमित पूजा अर्चना के लिए उन्हें फिर से खोल दिए जायेंगे. चंद्र ग्रहण का आरंभ रात्रि 11 बजकर 54 मिनट पर हो रहा है।

ग्रहण काल 28 जुलाई प्रात: 3 बजकर 49 मिनट तक रहेगा। 28 जुलाई को श्री बदरीनाथ मंदिर एवं श्री केदारनाथ मंदिर प्रात: काल अपने निर्धारित समय पर दर्शनार्थ खुलेंगे.

जानें कब देख पाएगे पूर्ण रूप से चंदग्रहण को……….

शुक्रवार देर रात 10.53 बजे – चांद पर ग्रहण का असर शुरू होगा, हालांकि नंगी आंखों से कुछ नहीं दिखेगा.

11.54 बजे – धीरे-धीरे ग्रहण का असर नंगी आंखों से देख पाएंगे.

देर रात 1.51 बजे – चंद्रग्रहण अपने सर्वोच्च स्तर पर होगा, ये ही पूर्ण चंद्रग्रहण होगा.

2.43 बजे – धीरे-धीरे ग्रहण का असर कम होगा.

शनिवार सुबह 5.00 बजे – चंद्रग्रहण का असर खत्म होगा.

Back to top button