जस्टिस प्रशांस मिश्रा बने छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट के कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट के वरिष्ठ न्यायाधीश प्रशांत मिश्रा को कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश बनाया गया है। मुख्य न्यायाधीश जस्टिस अजय कुमार त्रिपाठी को लोकपाल समिति का सदस्य बनाए जाने के बाद उच्च न्यायालय में मुख्य न्यायाधीश का पद रिक्त हुआ था। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने वरिष्ठता के आधार पर जस्टिस प्रशांत मिश्रा को कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश नियुक्त किया है।

वर्ष 1964 में रायगढ़ में जन्मे जस्टिस प्रशांत मिश्रा ने बीएससी और एलएलबी की उपाधि गुस्र् घासीदास विश्वविद्यालय, बिलासपुर से प्राप्त की। वे 1987 में अधिवक्ता बने। उन्होंने जिला न्यायालय रायगढ़, जबलपुर स्थित उच्च न्यायालय मध्यप्रदेश और बिलासपुर स्थित उच्च न्यायालय छत्तीसगढ़ में वकालत की।

उन्हें जनवरी 2005 को उच्च न्यायालय छत्तीसगढ़ द्वारा वरिष्ठ अधिवक्ता मनोनित किया गया। वे 2 वर्षों तक छत्तीसगढ़ राज्य विधि परिषद के अध्यक्ष रहे। जस्टिस मिश्रा उच्च न्यायालय छत्तीसगढ़ के नियमकारी समिति के सदस्य रहे। वे गुरू घासीदास विश्वविद्यालय, बिलासपुर के कार्यकारी परिषद के कुलाधिपति भी नामित किए गए।

जस्टिस मिश्रा हिदायतुल्ला राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय, रायपुर के कार्यकारी परिषद में पदेन सदस्य के तौर पर सम्बद्ध रहे। उन्होंने 2004 से 2007 तक छत्तीसगढ़ राज्य के अतिरिक्त महाधिवक्ता के तौर पर कार्य किया। 1 सितम्बर 2007 से अपने उन्न्यन तक उन्होंने राज्य के महाधिवक्ता के तौर पर कार्य किया। 2009 को वे बिलासपुर उच्च न्यायालय में न्यायाधीश के रूप में पदस्थ हुए।

Back to top button