जलेश्वर महादेव में पुण्यवर्धन उत्सव मंत्र अर्पण महोत्सव शुरू

जागेश्वर सिन्हा

बालोद। जिला मुख्यालय के गंजपारा, दशौंदी तालाब स्थित जलेश्वर महादेव में पुण्यवर्धन उत्सव मंत्र अर्पण महोत्सव के तहत बुधवार से शास्त्रोक्त पूजन शुरू हो गया हैं। इस पूजन  कार्य के लिए कोलकाता से आए 9 विद्वान् पंडितो को बुलाया गया हैं यह धार्मिक आयोजन 02 मार्च तक चलेगा।

2 मार्च तक होगा आयोजन

2 मार्च तक चलने वाले धार्मिक आयोजन में बुधवार को कोलकाता से आए हुए पंडितों ने सुबह 8 बजे से पूजा-अर्चना प्रारंभ की, जिसमें मंगल शांति पाठ, गणेशा अंबिका पूजा, यज्ञादिक संकल्प मंडप पूजन का कार्यक्रम हुआ। पंडितों ने सर्वप्रथम देवी-देवताओं की विशेष पूजा-अर्चना कर आह्वान किया। इस दौरान मौजूद जलेश्वर महादेव मंदिर के प्रमुख यज्ञदत्त शर्मा व उनकी पत्नी श्रीमती रंजना शर्मा ने जिलेवासियों के अमन चैन व खुशहाली की कामना की।

मंत्र लेखन करने वालो को मिला पूजा का मौका

जलेश्वर महादेव में पूर्ण वर्धन उत्सव मंत्र अर्पण महोत्सव के पहले दिन से ही साल भर से दशौंदी तालाब स्थित शब्द नहीं अनुभव कक्ष में बैठककर ओम नम: शिवाय मंत्र लेखन करने वालों को पूजा-अर्चना के लिए अवसर दिया जा रहा है।इस दौरान हाथ में मंत्र लेखन पुस्तिका को थाल में रखकर जाने वाले श्रद्धालुओं का फूल मालाओं से स्वागत कर बाजे-गाजे के साथ मुख्य पूजा स्थल तक लाया जाता है, जहां 9 पंडितों द्वारा मंत्रोच्चार व शिव के अभिषेक के साथ पूजा-अर्चना कराई जा रही है।

दशौंदी तालाब में विशेष साज-सज्जा

जलेश्वर महादेव के विशाल शिवलिंग के चारों ओर आकर्षक लाइट्स व केनात लगाया गया है, वहीं शिवलिंग तक पहुंचने के लिए प्लेट की सीढ़ी बनाई गई है। इसी के दोनों किनारे को गेंदे के फूल से सजाया गया है। आयोजन स्थल के मुख्य द्वार के बगल में आकर्षक झरने बनाये गए हैं, इस झरने में शिव जी के ऊपर से चलने वाला पानी का फौव्वारा आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। जलेश्वर महादेव के मुख्य द्वार से लेकर नंदी के चारों ओर विशेष साज-सज्जा की गई है।

आने वाले दिनों में होने वाले आयोजन

दशोदी तलाब स्थित जलेश्वर महादेव मंदिर के अध्यक्ष विनोद कौशिक व् मुरारीलाल चंदन ने बताया की 27 फ़रवरी बुधवार को मंगल शांति पाठ, गणेशाम्बिका पूजा,यज्ञदिक सकल्प,मंडप पूजन,का कार्यक्रम हुआ हैं,27 फ़रवरी से 01मार्च तक शांतिपाठ ,वेदियों की पूजा,महामंत्र पुस्तिका पूजन एव राजोपचार शिव सपरिवार पूजा होगी।जिसमे मंत्र लिखने वाले सभी परिवारो के सदस्यों को पूजा अर्चना में शामिल होंगे।वहीँ 01 मार्च को ही मंत्र लेखन पुस्तिका को जलेश्वर महादेव के जलधरि में अर्पण किया जाएगा।महोत्सव के दौरान प्रतिदिन शाम 7 बजे जलेश्वर महादेव की महाआरती की जाएगी जिसके बाद भक्तो को प्रसाद वितरण किया जाएगा। दो मार्च को हवन पूजन पूर्णाहुति होगी एव दोपहर एक बजे से भक्तो को मनोरथ भोग तथा अमृतस्वरूप जल का वितरण किया जाएगा।

मंत्रलेखन करने वाले परिवार सहित शामिल हुए

मंत्रलेखन करने वाले परिवारो में प्रमुख रूप से यज्ञदत्त शर्मा श्रीमती रंजना शर्मा, भारत गाधी श्रीमती मनीषा गाधी, धर्मेन्द्र श्रीवास्तव, श्रीमती हीरा बेन,श्याम सुंदर रधुवंशी,शॉलेंद्र योगी,श्रीमती सुनीता साहू,श्रीमती श्रीति अग्रवाल,श्रीमती संगीता बोरकर ,श्रीमती जिया पटेल,जया पटेल,पोषण राजपूत,उदयराम साहू,श्रीमती उर्मिला भारद्वाज,श्रीमती मंजू यादव,श्रीमती ममता यदु,वेलजी भाई पटेल अलका बेन दमयंतीन बेन,अम्बभाई यशोदा बेन पटेल,रणवीर सिंह श्रीमती सुभद्रा बैस,कुमारी अनीता साहू,श्रीमती राजेश्वरी रधुवशी,पीएल देसमुख पूणिमा देसमुख सहित बड़ी सख्या लोग पूजा अर्चना में शामिल होकर अपने आप को धन्य मान रहे हैं।

Back to top button