मध्यप्रदेश

BJP कार्यकर्ता की हत्या पर बोले कैलाश विजयवर्गीय, ‘बंगाल में है हत्यारी सरकार’

बंगाल की जंगल राज (Jangal Raj) और हत्यारी सरकार (Murderous Govt) को अब उखाड़ने का समय आ गया है.

बीजेपी के महासचिव व बंगाल बीजेपी (BJP) के केंद्रीय प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय (Kailash vijyavargiya) ने बीजेपी कार्यकर्ता की हत्या पर ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) की सरकार पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि त्योहारों में भी बंगाल में राजनीतिक हिंसा (Political violence) बंद नहीं हो रही है. बंगाल की जंगल राज (Jangal Raj) और हत्यारी सरकार (Murderous Govt) को अब उखाड़ने का समय आ गया है.

गौरतलब है कि सोमवार को बंगाल बीजेपी ने आरोप लगाया है कि दुर्गापुर पूर्व विधानसभा (Durgapur East Assembly) के पुरुलिया के निवासी व बीजेपी के सक्रिय कार्यकर्ता स्वरूप शॉ को उसके घर से टीएमसी के लोग उठा कर ले गए और उसकी तृणमूल की गुंडावाहिनी ने निर्ममता से हत्या कर दी. मां, माटी, मानुष की सरकार के शासन में पश्चिम बंगाल में एक के बाद एक राजनीतिक हत्याएं की हो रही हैं.

नवरात्रि में 5 बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्या

विजयवर्गीय ने कहा, नवरात्रि के दौरान बंगाल में बीजेपी के 5 कार्यकर्ताओं की हत्या कर दी गयी थी और अब दीपावली के पहले फिर बीजेपी कार्यकर्ता की हत्या कर दी गई है. त्यौहारों में खून से हाथ रंगने में दीदी को शर्म नहीं आती है. उन्होंने ट्वीट किया ”TMC गुंडे ने फिर अंजाम दिया!

इस बार उन्होंने दुर्गापुर पूर्व के एक भाजपा कार्यकर्ता स्वरूप शॉ का अपहरण कर उनकी हत्या कर दी. मा-माटी-मानुष सरकार की देखरेख में एक के बाद एक राजनीतिक हत्याएं हो रही हैं. बंगाल, इस जंगल राज को समाप्त करने और हत्यारी सरकार को उखाड़ने का समय आ गया है.

2021 चुनाव की तैयारी को लेकर हुई बैठक

दिल्ली में बीजेपी के संगठन महासचिव बीएल संतोष की अध्यक्षता में 2021 के चुनाव की तैयारियों को लेकर बैठक हुई. बैठक में कैलाश विजयवर्गीय के अतिरिक्त राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल रॉय व प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष शामिल हुए. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के बंगाल दौरे के बाद हुई यह बैठक राजनीतिक रूप से काफी महत्वपूर्ण मानी जा रही है. इस बैठक में शाह के निर्देशानुसार चुनाव की रणनीति की अंतिम रूपरेखा तय हुई है.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button