कलौंजी करता है अस्‍थमा जैसे रोग का इलाज, जानें 5 अन्य फायदे

यह सासं से जुड़ी बीमारी है, जिसमें खांसी, सांस लेने में तकलीफ और नाक से अवाज आने जैसी प्रॉब्लम होती है।

प्रदूषण या किसी चीज से एलर्जी के कारण आजकल लोगों में अस्थमा की समस्या आम देने को मिलती है।

यह सासं से जुड़ी बीमारी है, जिसमें खांसी, सांस लेने में तकलीफ और नाक से अवाज आने जैसी प्रॉब्लम होती है।

वैसे तो लोग इसके लिए होम्योपैथिक दवाओं का सेवन करते है लेकिन आप घरेलू नुस्खों से भी इसका इलाज कर सकते हैं।

हम बात कर रहे हैं सदियों से औषधि के रूप में इस्तेमाल की जाने वाली कलौंजी की। चलिए आपको बताते हैं किस तरह अस्थमा में फायदेमंद है कलौंजी।

कलौंजी में मौजूद पोषक तत्‍व

कलौंजी में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन और हेल्‍थी फैट जैसे पोषक तत्‍व होते है।

साथ ही इसमें वसीय अम्ल ओमेगा-6 (लिनोलिक अम्ल), ओमेगा-3 (एल्फा- लिनोलेनिक अम्ल) और ओमेगा-9 (मूफा) भी होते हैं।

इसके अलावा निजेलोन में एंटी-हिस्टेमीन गुण श्वास नली की मांसपेशियों को ढीला कर प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत और खांसी, दमा, ब्रोंकाइटिस आदि को ठीक करती है।

अस्‍थमा के लिए कलौंजी

अस्‍थमा की रोकथाम के लिए कई दवाएं मौजूद हैं। हालांकि इन दवाओं के कई साइड इफैक्‍ट भी होते हैं।
ऐसे में आप कलौंजी से बिना किसी साइड-इफैक्ट के अस्थमा का इलाज कर सकते हैं।

शोध के अनुसार, कलौंजी में मौजूद जरूरी घटक, थाइमोक्विनोन में अस्‍थमा के लक्षणों पर काबू पाने की शक्ति होती है।

कैसे करें कलौंजी का इस्तेमाल?

इससे राहत पाने के लिए कलौंजी के बीजों को पीसकर गर्म दूध में मिक्स करके पीएं।

अस्‍थमा के लक्षणों से राहत पाने के लिए आप शहद के साथ भी कलौंजी के बीज के तेल का इस्‍तेमाल कर सकते हैं।

इसके अलावा कलौंजी का यूज आप दाल, सब्जियों और चपाती में भी कर सकते हैं।

कलौंजी के अन्य फायदे सर्दी-खांसी, कफ

1/2 चम्मच कलौंजी, अदरक का रस और 1 चम्मच शहद को मिलाकर दिन में 2 बार पीएं। इससे सर्दी, कफ, जुकाम और पुरानी से पुरानी खांसी दूर हो जाएगी।

जोड़ो का दर्द

कलौंजी के तेल से मालिश करने से आपका जोड़ो, घुटनों, सिर दर्द, कमर दर्द और मांसपेशियों का दर्द गायब हो जाएगा।

वजन घटाना

रोजाना सुबह खाली पेट 1 चम्मच कलौंजी के तेल का गुनगुने पानी के साथ सेवन करें। इससे कुछ ही दिनों में आपको मोटापा कम हो जाएगा।

कैंसर से बचाव

कलौंजी में एंटी-आक्सीडेंट भी मौजूद होता है जो शरीर में कैंसर सेल्स को बढ़ने से रोकता है। इससे आप कैंसर जैसी बीमारी से बचे रहते हैं।

दिल की बीमारी

कलौंजी में 1 टीस्पून तेल और दूध मिला कर रोजाान सेवन करने से दिल का दौरा पड़ने की संभावना भी कम हो जाती है।

डायबिटीज

नियमित रूप से इसका सेवन डायबिटीज मरीजों के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इसके सेवन से शुगर कंट्रोल में रहती है।

आंखों के लिए फायदेमंद

एक गिलास गाजर के जूस में 10 बूंदे कलौंजी का तेल डाल कर पीने से आंखों की रोशनी तेज होती है।

इसके अलावा इससे आंखों में सूजन, दर्द और इंफेक्शन की समस्यां भी दूर हो जाती है।

Back to top button