कल्पेश याग्निक को दे रही थी दुष्कर्म में फंसाने की धमकी, महिला पत्रकार पर मामला दर्ज

वरिष्ठ पत्रकार कल्पेश याग्निक को झूठे मामले में फंसाने की धमकी देकर उन्हें खुदकुशी के लिए उकसाने के आरोप में पुलिस ने एक महिला पत्रकार के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (एएसपी) शैलेंद्र सिंह चौहान ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि 55 वर्षीय याग्निक के परिजनों के बयान और मामले की शुरुआती जांच के आधार पर एक महिला पत्रकार के खिलाफ शहर के एमआईजी थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है।

पुलिस उप महानिरीक्षक हरिनारायणचारि मिश्र ने बताया कि वरिष्ठ पत्रकार कल्पेश याग्निक की 12 जुलाई की रात्रि में मृत्यु के मामले में पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू की थी। पुलिस जांच में महिला पत्रकार द्वारा कल्पेश याग्निक को जीवित रहते धमकाने, उनसे रुपयों की मांग करने के संबंध में प्रमाण मिले हैं। इसके आधार पर सलोनी अरोरा के विरुद्ध आज प्रकरण दर्ज कर लिया। मिश्र ने बताया कि पुलिस ने महिला पत्रकार की तलाश शुरू कर दी है।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि वह महिला कुछ समय पूर्व दिवंगत कल्पेश याग्निक के अधीन उन्हीं के नियोक्ता संस्थान में कार्यरत थी। उसे नौकरी से निकाले जाने के बाद वह याग्निक पर दबाव बना रही थी। इसकी वजह से अपने अंतिम दिनों में याग्निक काफी तनाव में थे। इस संबंध में याग्निक ने अपनी मृत्यु के लगभग 15 दिनों पहले अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक इंदौर को एक आवेदन भी दिया था। याग्निक के परिवारजनों के बयान और इस आवेदन पर पुलिस ने आज सलोनी के विरुद्ध प्रकरण दर्ज किया।

Back to top button