‘कंगना रनौत को इतनी ही दिक्कत है तो छोड़ क्यों नहीं देती इंडस्ट्री’, करण जौहर का वीडियो हुआ वायरल

बॉलीवुड की बेबाक अभिनेत्री कंगना रनौत लोगों के सामने अपने बात रखने में हिचकिचाती नहीं है. खासकर नेपोटिज्म के बारे में वे खुलकर सामने आई हैं.

कंगना रनौत का मानना है कि जब तक उनकी नीयत सही है, तब तक उन्हें अपने द्वारा कही गई बातों का बुरा नहीं लगता. वहीं सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें करण जौहर कंगना पर निशाना साधते हुए कहा रहे हैं कि आप हमेशा विक्टिम नहीं हो सकते. आप हमेशा ऐसा महसूस नहीं करवा सकते इस इंडस्ट्री में आपको बहुत डराया धमकाया गया है.

अगर ऐसा है तो आप इसे छोड़कर जा सकती हैं. कौन आपको गन प्वाइंट पर डरा धमका कर यहां रहने को कह रहा है. इस वीडियो के बाद लोग करण जौहर की आलोचना कर रहे हैं. बता दें, कंगना उस वक्त विवादों में घिर गई थीं, जब उन्होंने मशहूर फिल्म निर्माता करण जौहर को उन्हीं के टेलीविजन चैट शो में कहा था कि वे ही ‘नेपोटिज्म के ध्वजवाहक हैं.”

बता दें, सुशांत की सुसाइड को लेकर कंगना रानौत ने एक वीडियो जारी किया था. इसमें कंगना ने कहा कि ‘सुशांत सिंह राजपूत के मामले ने हम सब को झकझोर कर रख दिया है. कुछ लोग ये नैरेटिव चला रहे हैं कि जिनका दिमाग कमज़ोर होता है वो डिप्रेशन में आकर सुसाइड कर लेते हैं. सुशांत सिंह रैंक होल्डर थे, उनका दिमाग कमज़ोर कैसे हो सकता है. उनके लास्ट पोस्ट देखो, वो साफ़ कह रहे हैं कि प्लीज़ मेरी फ़िल्में देखो, मेरा कोई गॉडफादर नहीं है. मुझे निकाल दिया जाएगा इस इंडस्ट्री से. और वह अपने इंटरव्यू में वह ये ज़ाहिर कर रहे हैं.’


सुशांत को डेब्यू फिल्म के लिए अवार्ड क्यों नहीं मिला.
कंगना ने कहा कि तो क्यों नहीं इंडस्ट्री उन्हें अपनाती है. क्या इन बातों से हादसों की कोई गुंजाइश नहीं है. काई पो छे फिल्म के लिए उन्हें डेब्यू का कोई अवार्ड नहीं मिला. या सुशांत की केदारनाथ, धोनी, छिछोरे जैसी फिल्म को कुछ नहीं मिला. गली बॉय जैसी वाहियाद फिल्म को सारे अवार्ड मिलते हैं. जबकि छिछोरे जैसी फिल्म को कोई अवार्ड नहीं मिलता है.

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button