कन्हैया को मिला कांग्रेस का न्योता, बीजेपी ने उस पर साधा निशाना

विवाद के मद्देनजर इनका नाम मेहमानों की सूची से हटाया

नई दिल्‍ली: कांग्रेस ने कथित तौर पर जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व नेता कन्हैया कुमार को अल्पसंख्यक विभाग के एक कार्यक्रम में न्यौता दिया. साथ में शेहला राशिद को भी कांग्रेस के अल्पसंख्यक विभाग के एक कार्यक्रम में आने का निमंत्रण मिला.

जिसके मद्देनजर बजपा को साधने का मौका मिल गया. जिसके बाद विपक्ष ने भाजपा के बयान को मनगढ़ंत कहानी करार दिया है. कांग्रेस के अल्पसंख्यक विभाग के कार्यक्रम में कन्हैया और शेहला को निमंत्रित किया गया था, हालांकि विवाद के मद्देनजर इनका नाम मेहमानों की सूची से हटा दिया गया.

इस मामले पर भाजपा नेता प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि कभी मुख्यधारा की पार्टी रही कांग्रेस अब तुच्छ मानसिकता दर्शा रही है. कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने कहा, ‘‘ हमारे अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ ने कार्यक्रम किया। यह उन पर निर्भर करता है कि वह किसे आमंत्रित करें और किसे नहीं करे.

उन्होंने कहा, ‘जहां तक आरोप पत्र दाखिल करने की बात है तो कानून कहता है कि जब तक दोषसिद्धि नहीं हो जाए तब तक आप बेकसूर हैं. अखबारों की खबरों के मुताबिक न्यायाधीश ने आरोप पत्र स्वीकार नहीं किया. यह विवाद गढ़ा गया है.

कांग्रेस सम्मेलन में कन्हैया कुमार की भागीदारी पर सलमान खुर्शीद ने कहा, कांग्रेस के बेहद व्यापक विचार हैं. कुछ व्यक्ति इसे चाहते हैं कुछ नहीं. कन्हैया कुमार बेहद असरदार साबित हो रहे हैं. कांग्रेस ने उन्हें बुलाया है तो सोच कर ही बुलाया होगा. इसे राजनीतिक रंग नहीं देना चाहिए. महात्मा गांधी से जुड़े विचार सम्मेलन में सबकी भागीदारी है. मेरे संज्ञान में यह मामला है भी नहीं.

1
Back to top button