केरल में तेज हुआ संग्राम, महिलाओं की एट्री के विरोध में आज राज्य बंद, हिंसा में 1 की मौत

वहां हुई CPIM-BJP के कार्यकर्ताओं के बीच हुई झड़प में वह घायल हुए जिसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया. हालांकि, देर रात ही उनकी मौत हो गई

तिरूवंनतपुरम।

केरल के सबरीमाला में बीते बुधवार को 40 वर्ष से कम उम्र की महिलाओं के दर्शन करने पर केरल में बवाल तेज हो गया है। मंदिर में प्रवेश के बाद से कन्याकुमारी से लेकर केरल तक विरोध प्रदर्शन हो रहा है।

बुधवार को प्रदर्शन में घायल हुए 55 वर्षीय चंदन उन्नीथन की मौत हो गई. गुरुवार को सबरीमाला में प्रदर्शन कर रहे 5 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया, इनपर महिला पुलिसकर्मी पर हमला करने का आरोप था. जबकि दो सीपीआईएम के कार्यकर्ताओं को भी कस्टडी में लिया गया है.

चंदन उन्नीथन, ‘सबरीमाला कर्म समिति’ का कार्यकर्ता था, जो कि महिलाओं के मंदिर में घुसने का विरोध कर रहा था. बुधवार को वहां हुई CPIM-BJP के कार्यकर्ताओं के बीच हुई झड़प में वह घायल हुए जिसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया. हालांकि, देर रात ही उनकी मौत हो गई.

हिंदूवादी संगठनों ने किया राज्य बंद

आज कई हिंदूवादी संगठनों ने राज्य बंद का आह्वान किया है. गौरतलब है कि भगवान अयप्पा के इस मंदिर में 10 से 50 वर्ष की महिलाओं की एंट्री पर रोक थी. देश की सर्वोच्च अदालत सुप्रीम कोर्ट ने इस परंपरा को खत्म किया था, .

जिसका भारतीय जनता पार्टी और अन्य हिंदू संगठनों ने काफी विरोध किया था. गौरतलब है कि बुधवार को राज्य सचिवालय के बाहर करीब 5 घंटे तक संघर्ष चला, जिसमें माकपा-भाजपा के कार्यकर्ताओं के बीच पत्थरबाजी हुई.

1
Back to top button