कर्नाटक विधानसभा चुनाव : लिंगायतों को रिझाने बीजेपी खेलेगी ‘सहानुभूति का कार्ड’ खेलेगी बीजेपी

बेंगलुरु। कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया के लिंगायत कार्ड के जवाब में बीजेपी ‘सहानुभूति कार्ड’ खेलने जा रही है। चुनावी महासमर में मैदान मारने के लिए लिंगायत बहुल इलाकों में बीजेपी अपनी प्रचार रणनीति पर फिर से काम करने जा रही है। पार्टी अब इस समुदाय की जनभावनाओं को अपने मुख्यमंत्री पद के प्रत्याशी बीएस येदियुरप्पा के पक्ष में करने के लिए सहानुभूति का कार्ड खेलेगी जो खुद भी लिंगायत समुदाय से आते हैं।

येदियुरप्पा को समाने रखकर मतदाताओं से करेगी अपील : बीजेपी ने येदियुरप्पा को समाने रखकर मतदाताओं से भावुक अपील करेगी कि ‘इस बार बीजेपी को वोट करें, अन्यथा अगले एक दशक से ज्यादा समय तक आपको लिंगायत मुख्यमंत्री नहीं मिलेगा।’ बता दें, राज्य में लिंगायत समुदाय की आबादी करीब 17 फीसदी है और वे राज्य में 100 सीटों पर प्रभाव रखते हैं। माना जा रहा है कि बीजेपी का यह कदम कांग्रेस को टक्कर देने के लिए है। बीजेपी के मुताबिक कांग्रेस पार्टी लिंगायत समुदाय के प्रति लापरवाह है।

बीजेपी की कोशिश की यह दर्शाने की है कि कांग्रेस ने लिंगायत को अल्पसंख्यक का दर्जा देने का दांव येदियुरप्पा को निशाना बनाने के लिए खेला है। एक वरिष्ठ बीजेपी नेता ने कहा, ‘जैसे-जैसे राज्य में चुनावी पारा चढेÞगा, वैसे-वैसे लिंगायत समुदाय से समर्थन मांगेंगे। बीजेपी ने वर्ष 2008 में इसी तरह का संदेश सफलतापूर्वक दिया था। उस समय बीजेपी ने कहा था कि येदियुरप्पा तत्कालीन मुख्यमंत्री और जेडीएस नेता एचडी कुमारस्वामी के धोखे का शिकार हो गए।

new jindal advt tree advt
Back to top button