अमित शाह के आरोपों पर भड़क गए कर्नाटक के सीएम सिद्धारमैया, कहा- ‘एक्स-जेल बर्ड’ और ‘बुद्धिहीन’

साल 2010 में अमित शाह को सोहराबुद्दीन एन्काउंटर मामले में जेल भेज दिया गया था हालांकि बाद में सबूतों के अभाव में उनको छोड़ दिया गया था

अमित शाह के आरोपों पर भड़क गए कर्नाटक के सीएम सिद्धारमैया, कहा- ‘एक्स-जेल बर्ड’ और ‘बुद्धिहीन’

कर्नाटक विधाननसभा चुनाव को लेकर अब नेताओं के बीच बयानबाजी तेज हो गई है. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की ओर से किए गए हमले के बाद कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने मोर्चा संभाला और उन्होंने अमित शाह को ‘बुद्धिहीन’ और ‘एक्स जेल बर्ड’ (जो पहले जेल जा चुका हो) कह डाला. दरअसल गुरुवार को हुई रैली में अमित शाह ने सिद्धारमैया को लेकर तगड़ा हमला बोला था. उन्होंने कहा कि सिद्धारमैया की सरकार भ्रष्टाचार की सभी सीमाएं पार कर चुकी है. शाह ने कहा, ‘कर्नाटक में भ्रष्टाचार और सिद्धारमैया एक दूसरे के पर्याय बन चुके हैं. सिद्धारमैया का मतलब भ्रष्टाचार और भ्रष्टाचार का मतलब सिद्धारमैया.’

[responsivevoice_button voice=”Hindi Female” buttontext=”अगर आप पढ़ना नहीं
चाहते तो क्लिक करे और सुने”]
जब अमित शाह की इस बात पर सीएम सिद्धारमैया से सवाल किया गया तो उन्होंने आरोप को खास तवज्जो न देते हुए कहा, ‘ऐसा लगता है कि अमित शाह के पास दिमाग नहीं है, वह बुद्धिहीन हैं’. इसके बाद सिद्धारमैया ने ट्विटर पर लिखा, ‘कहते हैं कि एक एक्स जेल ने एक दूसरे एक्स जेल बर्ड को हमारे कर्नाटक के लिए सीएम पद का उम्मीदवार बनाया है.’ उनका निशाना बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और कर्नाटक के पूर्व सीएम बीएस येदुरप्पा हैं. सीएम सिद्धारमैया ने कहा कि जो लोग उनके ऊपर आरोप लगा रहे हैं उनको सबूतों के साथ आना चाहिए.

सिद्धारमैया के ट्वीट के जवाब में बीएस येदुरप्पा ने भी ट्वीट किया और कहा, तो एक सीएम जिसने लोकायुक्त को खत्म किया, एसीबी का दुरुपयोग किया और खुद को भ्रष्टाचार के दर्जनों मामले में खुद क्लीनचिट दे दी. इसके साथ येदुरप्पा ने ये भी याद दिलाया कि वो उन्हों सभी मामलों से क्लीनचिट मिल गई है.

गौरतलब है कि साल 2010 में अमित शाह को सोहराबुद्दीन एन्काउंटर मामले में जेल भेज दिया गया था हालांकि बाद में सबूतों के अभाव में उनको छोड़ दिया गया था. वहीं दूसरी ओर बीएस येदुरप्पा को भ्रष्टाचार के आरोप पर मुख्यमंत्री की कुर्सी छोड़नी पड़ गई थी. उनको भी तीन हफ्ते जेल में गुजारने पड़े थे. लेकिन बाद में उनको क्लीनचिट मिल गई.

advt
Back to top button