निवेश के नाम पर सालों तक 300 लोगों से लाखों रुपए लेता रहा पोस्टमास्टर

कर्नाटक में एक पोस्टमास्टर द्वारा कथित तौर पर लोगों के 50 लाख रुपए लेकर फरार होने का मामला सामने आया है। खबर के अनुसार कारवर के बेथकोल पोस्ट ऑफिस में करीब 300 लोगों ने पोस्ट ऑफिस की विभिन्न स्कीमों में पोस्टमास्टर के जरिए निवेश किया था लेकिन पोस्टमास्टर गबन कर क्षेत्र से फरार हो गया। घटना के बाद बीते शनिवार (25 जून, 2017) को निवेशकों ने पोस्ट ऑफिस के बाहर प्रदर्शन कर तत्काल पैसे वापस दिए जाने की मांग की।

निवेशकों में ज्यादातर फिशर वूमैन और मजदूर वर्ग शामिल है

घटना के बाद एक निवेशक ने बताया कि पोस्टरमास्टर लक्ष्मण गोविंद नाइक करीब 22 सालों से स्थानीय पोस्ट ऑफिस में काम करता था। लोगों के सात उसका बर्ताव भी बहुत अच्छा था। इसीलिए हमने उसपर भरोसा कर इतनी भारी रकम निवेश की। वहीं एक स्थानीय नागरिक ने बताया, ‘लोगों ने अलग-अलग पोस्ट ऑफिस की स्कीमों पैसा निवेश किया था। निवेशकों में ज्यादातर फिशर वूमैन और मजदूर वर्ग शामिल है। इनमें ज्यादातर लोग या तो कम पढ़े लिखे हैं या बिल्कुल भी साक्षार नहीं है।

दो लाख रुपए गवां चुकीं फिशर वूमैन लक्ष्मी कहती हैं, ‘हमारी जैसी कई महिलाओं ने जीवन भर की कमाई निवेश की थी। हमें विश्वास दिलाया गया था कि सरकारी संस्थान में निवेश करने से पैसा बिल्कुल सुरक्षित रहेगा। लेकिन धोखा कर पोस्टमास्टर सारे पैसे लेकर भाग गया। अब कौन हमारे पैसे वापस दिलाएगा?

लोगों ने बताया कि जब वो पोस्ट ऑफिस में पैसा जमा कराने जाते थे तब पोस्टरमास्टर लक्ष्मण उनसे पैसा लेकर कहता कि वो खुद पैसा जमा कर देगा इसलिए उनको पोस्ट ऑफिस जाने की जरूरत नहीं। इस दौरान वो हमसे फॉर्म भरवाता और हमारे हस्ताक्षर लेता था। पोस्ट ऑफिस की पासबुक मांगने पर हाथ की लिखी पासबुक दिखा देता था। निवेशों के अनुसार उन्होंने कई बार उससे असली पासबुक मांगी लेकिन वो हर बार इसे टालता रहा।

लेकिन अब सबकुछ साफ हो गया है कि हमारे साथ धोखा हुआ है। वहीं पोस्ट ऑफिस की स्कीम में निवेश करने वाली एक बुजुर्ग महिला ने बताया, ‘मैंने पिछले दस सालों में पांच लाख रुपए पोस्टमास्टर को दिए। लेकिन जब खाते की जांच की तो उसमें महज 50 रुपए ही मिले।’ हालांकि पोस्ट ऑफिस के सीनियर अधिकारी ने निवेशकों का पैसा वापस देने का भरोसा दिलाया है। अधिकारी ने कहा कि जल्द ही निवेशकों के अकाउंट में पैसा ट्रांसफर कर दिया जाएगा।

Back to top button