राष्ट्रीय

डायरेक्‍ट टैक्‍स कलेक्‍शन पर CBDT सख्‍त

नई दिल्ली. डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन केलक्ष्य को पूरा करने के लिए सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेज (CBDT) ने अपने फील्ड ऑफिसर्स को प्रयास बढ़ाने को कहा है. साथ ही अच्छी परफॉरमेंस वाली जोन्स पर ज्यादा ध्यान देने का भी आदेश दिया है. बोर्ड ने अधिकारियों से कहा है कि उन्हें बेहतर परफॉर्मेंस की संभावना वाले जोन्स पर ध्यान देना चाहिए. बता दें कि 2018-19 बजट में सरकार ने डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन लक्ष्य बढ़ाकर 10.05 लाख करोड़ रुपए कर दिया है. इससे पहले यह लक्ष्य 9.80 लाख करोड़ रुपए था.

केंद्र सरकार ने आम बजट 2018-19 में डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन के लक्ष्य को 9.80 लाख करोड़ रुपये से बढ़ाकर 10.05 लाख करोड़ कर दिया है. डायरेक्ट टैक्स में निजी आयकर एवं कॉर्पोरेट टैक्स शामिल है. इस महीने की शुरुआत में एक समीक्षा बैठक में सीबीडीटी ने उन क्षेत्रों के लिए टारगेट को बढ़ा दिया है, जहां से पहले से ज्यादा टैक्स कलेक्ट होता रहा है.

आयकर विभाग के अधिकारी ने कहा, ‘जनवरी-मार्च तिमाही में हम बेहतर अडवांस टैक्स कलेक्शन की ओर देख रहे हैं. यदि अक्टूबर-दिसंबर तिमाही का ट्रेंड जारी रहता है तो हम 10 लाख करोड़ रुपये के लक्ष्य को हासिल कर सकेंगे.’ टैक्स कलेक्शन में इजाफा करने के लिए विभाग को फोकस जिन क्षेत्रों में है, उनमें सबसे अहम वे कंपनियां हैं, जो फिलहाल सेल्फ असेसमेंट के आधार पर टैक्स चुका रही हैं.

Summary
Review Date
Reviewed Item
डायरेक्‍ट टैक्‍स कलेक्‍शन पर CBDT सख्‍त, अधिकारियों को दिया 10.05 लाख करोड़ का लक्ष्य
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *