करतारपुर कॉरिडोर:आज अटारी बॉर्डर पर बैठक करेंगे भारत और पाकिस्तान के अधिकारी

देशों के बीच बैठक सुबह 10 बजे से शुरू होगी

अटारी: करतारपुर कॉरिडोर बनाने की घोषणा भारत और पाकिस्तान दोनों ने की है. ये कॉरिडोर पाकिस्तान के करतारपुर और भारत के गुरदासपुर के मान गांव को जोड़ेगा. सिखों के पहले गुरु गुरुनानक देव की कर्मस्थली है करतारपुर. यहीं नानक देव ने अंतिम सांसें ली थीं.

इसी कड़ी में सरहद पर तल्खी के बीच भारत और पाकिस्तान के अधिकारी आज अटारी बॉर्डर पर बैठक करेंगे. पाकिस्तान में मौजूद करतापुर साहिब गुरुद्वारे को लेकर दोनों देशों के बीच सुबह 10 बजे से बैठक शुरू होगी. करतारपुर गलियारे के तौर-तरीकों को अंतिम रूप देने, कॉरिडोर बनाने के लिए ये बैठक हो रही है.

भारतीय पक्ष पाकिस्तान में सिख धार्मिक स्थानों पर भारत-विरोधी और खालिस्तानी अगलाववादी दुष्प्रचार का भी मुद्दा उठाएगा. भारत सुनिश्चित करेगा कि पाकिस्तान करतारपुर गुरुद्वारे में अलगाववाद की गतिविधियों की इजाजत नहीं देगा. भारत की तरफ से इस दल में विदेश, सड़क परिवहन, बीसएफ, राजमार्ग प्राधिकरण समेत कई मंत्रालयों के अधिकारी होंगे.

सिख श्रद्धालुओं को बिना वीजा के पाकिस्तान में एंट्री मिलेगी, सिर्फ टिकट लेना होगा. करतारपुर साहिब गलियारे के निर्माण की मांग भारत दो दशक से करता आ रहा है, जहां गुरुनानक का निधन 1539 में हुआ था. यह धार्मिक स्थल भारतीय सीमा से दिखाई पड़ता है.

Back to top button