अंतर्राष्ट्रीय

9 नवंबर को खुल जाएगा श्रद्धालुओं के लिए करतारपुर कॉरिडोर, पहला जत्था होगा रवाना

पीएम नरेंद्र मोदी और इमरान खान करेंगे कॉरिडोर का उद्घाटन

गुरदासपुर:गुरु नानक देव जी की 550वीं जयंती के अवसर पर कल शनिवार को 670 श्रद्धालुओं का पहला जत्था करतारपुर साहिब गुरुद्वारे के दर्शन के लिए जाएगा. पहले जत्थे में पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह समेत पंजाब सरकार के कई मंत्री और विधायक शामिल होंगे.

वहीं भारत से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पाकिस्तान से प्रधानमंत्री इमरान खान कॉरिडोर का उद्घाटन करेंगे. करतारपुर साहिब गुरुद्वारे का दर्शन करने जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए इन आठ बातों की जानकारी जरूरी है. इन आठ बातों का ध्यान रखने से उनकी यात्रा बिना किसी मुश्किल के हो सकती है.

1-करतापुर जाने के लिए (prakashpurb550.mha.gov.in/kpr/) वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन करना होगा.

2-करतार कॉरिडोर में प्राइवेट गाड़ियां ले जाने की परमिश्न नहीं होगी. श्रद्धालु गांव मान तक अपने वाहन ला सकते हैं जहां सरकारी पार्किंग में उन्हें अपनी गाड़ियां पार्क करनी होंगी. गांव मान से ही कॉरिडोर की शुरुआत होती है.

3- भारत में श्रद्धालुओं के डॉक्यूमेंट्स की जांच तीन प्वाइंट्स पर होगी. दस्तावेजों की पहली जांच चेक प्वाइंट पर होगी जो की कॉरिडोर के शुरुआत पर ही बने हैं. जांच के बाद श्रद्धालुों को ई-रिक्शा के जरिए टर्मिनल तक ले जाया जाएगा.

4-टर्मिनल पहुंचकर एक बार फिर दस्तावेजों की जांच होगी. यहां से श्रद्धालुओं का जत्था ई रिक्शा से और पैदल चलकर जीरो लाइन तक पहुंचेगा. जीरो लाइन पर एक बार फिर डॉक्यूमेंट्स की चेकिंग होगी. इसके बाद श्रद्धालु पाकिस्तान की सीमा में दाखिल होंगे.

5- पाकिस्तान में श्रृद्धालुओं को दो बार अपने दस्तावेजों की जांच करनी होगी. पाकिस्तान में जाते ही श्रद्धालुओं को दस्तावेज पाक रेंजरों को दिखाने होंगे. इसके बाद इलेक्ट्रॉनिक गाड़ियां श्रद्धालुओं को टर्मिनल तक लेकर जाएंगी.

6-टर्मिनल पहुंचकर एक बार फिर दस्तावेजों की जांच होगी. इसके बाद श्रद्धालुओं को श्री करतारपुर साहिब जाने वाली बस का नंबर अलॉट किया जाएगा. यही बसें करतारपुर साहिब के दर्शन के बाद श्रद्धालुओं को वापस टर्मिनल छोड़ेंगी और वे वापस भारत लौटेंगे.

7-श्रद्धालु सुबह चार बजे श्री करतारपुर साहिब के लिए रवाना होंगे और उसी दिन शाम को वापस लौटेंगे।

8-श्रद्धालु अपने साथ 11 हजार रुपये तक की नकदी लेकर जा सकते हैं. श्रद्धालुओं के बैग का भार सात किलो से ज्यादा नहीं होना चाहिए.

9-श्रद्धालुओं के लिए गुरुद्वारा साहिब में लंगर और प्रसाद की व्यवस्था रहेगी।

10- श्रद्धालु श्री करतारपुर साहिब के अलावा किसी दूसरी जगह नहीं जा सकेंगे.

Tags
Back to top button