कासगंज हिंसा: बरेली DM के पोस्ट पर UP सरकार सख्त, केशव मौर्य बोले- होगी सख्त कार्रवाई

कैप्टन राघवेंद्र पूर्व सैन्य अफसर रहे हैं और इसी साल 30 अप्रैल को सेवानिवृत्त होने जा रहे हैं

कासगंज हिंसा: बरेली DM के पोस्ट पर UP सरकार सख्त, केशव मौर्य बोले- होगी सख्त कार्रवाई

कासगंज हिंसा को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार पर दबाव लगातार बढ़ता ही जा रहा है, फेसबुक पर इस हिंसा को लेकर अब इस राज्य के एक जिलाधिकारी के पोस्ट ने विवाद बढ़ा दिया है.

बरेली के जिलाधिकारी कैप्टन राघवेंद्र विक्रम सिंह ने कासगंज घटना पर फेसबुक पर एक पोस्ट किया. रविवार की शाम 7:55 बजे किए गए 39 शब्दों के इस छोटे से पोस्ट के बाद विवाद खड़ा हो गया. अब यूपी के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा है कि डीएम के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

[responsivevoice_button voice=”Hindi Female” buttontext=”अगर आप पढ़ना नहीं
चाहते तो क्लिक करे और सुने”]
इस मुद्दे पर बीजेपी नेता विनय कटियार ने कहा है कि कासगंज में अगर तुरंत कार्रवाई की होती तो दंगा नहीं भड़कता ये प्रशासनिक विफलता की वजह से हिंसा भड़की. बरेली के डीएम की मानसिक स्थिति बिगड़ गई है इलाज की जरूरत है डीएम के खिलाफ करवाई होनी चाहिए. कटियार बोले कि ऐसी मानसिकता वाले को पाकिस्तान जाना चाहिए, हिंदुस्तान में पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे नहीं लगेंगे तो क्या हिंदुस्तान मुर्दाबाद के नारे लगेंगे. ऐसे में अफसर पर एक्शन लिया जाना चाहिए.

बरेली के जिलाधिकारी कैप्टन राघवेंद्र ने 28 जनवरी को अपने पोस्ट में लिखा था, “अजब रिवाज बन गया है. मुस्लिम मुहल्लों में जबर्दस्ती जुलूस ले जाओ और पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाओ. क्यों भाई वे पाकिस्तानी हैं क्या? यही यहां बरेली में खैलम में हुआ था. फिर पथराव हुआ, मुकदमे लिखे गए…”

दिलचस्प यह है कि कैप्टन राघवेंद्र पूर्व सैन्य अफसर रहे हैं और इसी साल 30 अप्रैल को सेवानिवृत्त होने जा रहे हैं. डीएम ने आर विक्रम सिंह नाम से बने फेसबुक पेज पर यह पोस्ट गणतंत्र दिवस के 2 दिन बाद कासगंज में फैले तनाव के बाद किया था.

दूसरी ओर, यूपी सरकार के प्रवक्ता और ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने कहा कि प्रशासनिक अधिकारियों को माहौल ठीक करने में अपनी ताकत लगानी चाहिए न कि उसे बिगाड़ने में. उनका काम व्यवस्था ठीक करना है.

दूसरी तरफ, उनके इस पोस्ट पर 3 घंटे तक लोगों ने जमकर प्रतिक्रिया दी, जिसके बाद उन्होंने इस पोस्ट को एडिट कर दिया. हालांकि चर्चा बढ़ने के बाद उन्होंने इसे एडिट करते हुए उसकी जगह 26 जनवरी को ऐतिहासिकता से जुड़ा कंटेंट डाल दिया. हालांकि, इससे एडिट हिस्ट्री नहीं मिटी. हालांकि विवाद बढ़ता देख उन्होंने इसे अपना निजी विचार करार दिया.

विवाद के बीच उन्होंने 10 घंटे पहले एक और पोस्ट किया है जिसमें उन्होंने लिखा, “कोई गलियों में तुम्हें खोज रहा है शायद, जाओ सो जाओ जमाना बड़ा जज्बाती हो गया है.” उनके इस पोस्ट पर लगातार प्रतिक्रिया आ रही है.

2005 बैच के प्रमोटी IAS कैप्टन राघवेंद्र विक्रम सिंह ने सेना से रिटायर होने के बाद यूपी प्रादेशिक सिविल सेवा में तैनाती ली थी. इससे पहले वह श्रावस्ती के जिलाधिकारी रहे हैं और कुछ महीनों में रिटायर भी होने वाले हैं.

advt
Back to top button