कटघोरा : नहीं रहे वनविभाग के पूर्व CCF अनिल सोनी,कोरोना संक्रमित होने के बाद बिलासपुर में चल रहा था उपचार

नहीं रहे वनविभाग के पूर्व CCF अनिल सोनी,क्षेत्र में हाथियों के प्रभाव को खत्म करने किया था उल्लेखनीय काम..कोरोना संक्रमित होने के बाद बिलासपुर में चल रहा था उपचार

अरविन्द शर्मा

छग/कोरबा: अचानकमार टाइगर रिजर्व के मौजूदा संचालक व बिलासपुर वृत्त के पूर्व मुख्य वन संरक्षक अनिल सोनी का गुरुवार की दोपहर को निधन हो गया। कोरोना संक्रमित होने पर उन्हें 22 अप्रैल को शहर के प्रताप टाकीज चौक स्थित केयर एन्ड क्योर में भर्ती किया गया था ।

निधन की खबर से वन विभाग के अधिकारी व कर्मचारी सदमे में हैं। अनिल सोनी मूलतः मंडला के रहने वाले हैं। छत्तीसगढ़ वन विभाग में उन्हें वर्ष 2000 में आईएफएस अवार्ड हुआ था। दिसंबर 2020 से वे अचानकमार टाइगर रिजर्व के संचालक की जिम्मेदारी संभाल रहे थे।कटघोरा : नहीं रहे वनविभाग के पूर्व CCF अनिल सोनी,कोरोना संक्रमित होने के बाद बिलासपुर में चल रहा था उपचार

इससे पहले बिलासपुर वनवृत के मुख्य वनसंरक्षक के पद पर पदस्थ थे कुछ दिनों तक बतौर प्रभारी टाइगर रिजर्व के संचालक रहे बाद में शासन ने उनकी पोस्टिंग ही टाइगर रिजर्व में कर दी। घटना की सूचना मिलने के बाद वन अधिकारी व कर्मचारी अस्पताल भी पहुंचे।

सीसीएफ रहते हुए उन्होंने कटघोरा वनमण्डलाधिकारी शमां फारूकी के साथ मिलकर क्षेत्र को हाथी के प्रभाव से मुक्त करने व हाथियों की सुरक्षा के लिए कई बड़ी कार्ययोजना तैयार की थी. वन्यजीवों के प्रति संवेदनशील दिवंगत अनिल सोनी मीडिया के बीच भी काफी लोकप्रिय रहे.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button