कटघोरा वनमंडल: सागौन की अवैध कटाई व तस्करी के मामले पर अज्ञात आरोपियों पर अपराध दर्ज, सात नग सागौन लट्ठा जप्त

कटघोरा. वनमंडल कटघोरा से भला कौन वाकिफ नही होगा, इस विभाग के अपने अलग ही अंदाज हैं कभी ये अपने कारनामो से सुर्खियों में बने रहता है तो कभी अपनी कार्यवाहियों को लेकर बेहद सख्त।दरअसल हम बात कर रहे हैं कटघोरा वनमंडल के अधीनस्थ रेंज पसान की जहाँ प्रभारी रेंजर धर्मेन्द्र चौहान ने अवैध सागौन की कटाई पर अज्ञात तस्करों के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध कर सात नग सागौन लट्ठा जप्त कर कार्यवाही की है।यह कार्यवाही पिछले दिनों 3 नवंबर को की गई थी. जिसके बाद से अज्ञात आरोपियों की पतासाजी की जा रही है।उक्त कार्यवाही में डिप्टी रेंजर मालिकराम पोर्ते, अरुण कुमार पांडेय,शारदा शर्मा,सुशीला विध्यराज, ईश्वर दास मानिकपुरी,राम अवतार मरकाम व मनेंद्र कोर्राम की मुख्य भूमिका रही।

कटघोरा वनमंडलाधिकारी शमा फारूकी के निर्देशन पर वनपरिक्षेत्र पसान रेंजर धर्मेंद्र चौहान द्वारा बीते 3 नवंबर को सागौन पेड़ कटाई व तस्करी के मामले पर सात नग सागौन लट्ठा जप्त कर अज्ञात आरोपियों के खिलाफ वन अपराध प्रकरण क्र. 14863/23 भारतीय वन अधिनियम 1927 की धारा 33 (1) क एवम 33 (1) ज तथा लोकसम्पत्ति क्षति निवारण अधिनियम 1984 की धारा 3 के तहत मामला पंजीबद्ध कर आरोपियों की पता तलाश की जा रही है।रेंजर धर्मेंद्र चौहान बेसकीमती पेड़ो की अवैध कटाई को लेकर बेहद सतर्क नजर आ रहे हैं.

इनकी सख्त कार्यवाहियों से लकड़ी तस्कर व अवैध खनन माफियाओं के चूले हिल गए हैं, सूत्रों की माने तो इनके सख्त व तेजतर्रार रवैये से अवैध कारोबारी नाखुश नजर आ रहे हैं अंदेशा लगाया जा रहा है ये इनके खिलाफ कोई षड्यंत्र रच इनकी प्रतिष्ठा को धूमिल कर सकते हैं।।वनपरिक्षेञ पसान हाथी प्रभावित क्षेत्र होने के बावजूद यहाँ रेंजर की सतर्कता व ततपरता से अनेकों कार्यों का जीर्णोद्धार हुआ है साथ ही हाथियों से होने वाली जनहानि पर भी काबू पाया जा सका है।

वनपरिक्षेञ पसान रेंजर धर्मेन्द्र चौहान को सागौन की अवैध कटाई व तस्करी की जानकारी हुई तो इन्होंने उच्चाधिकारियों को अवगत करा अपने मातहत कर्मचारियों को सजग कर कड़ी निगरानी रखने के निर्देश दिए थे।जिस पर वन अमला तस्करों पर कड़ी निगरानी रखे हुए हैं।जब तस्करों को भनक लगी कि वन अमले द्वारा सतत निगरानी रखी जा रही है तो काटे गए सागौन को लेने कोई नही आया जिस पर वन अमले ने कटाई हुए सागौन को जप्त कर अज्ञात आरोपियों के खिलाफ मामला पंजीबद्ध किया और आरोपियों की पता तलाश में जुट गई। वनपरिक्षेञ पसान में रेंजर चौहान की आमद से लकड़ी तस्करों व खनन माफियाओं को साँप सूंघ गया है।लगातार इनके द्वारा अवैध कार्यो पर कार्यवाही की जा रही है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button