कटघोरा : IOCL चौक के पास कोविड प्रोटोकॉल की अनदेखी,SDM के निर्देश पर दर्री जोन कमिश्नर ने तीन दुकानों को किया सील 

दर्री-कटघोरा मार्ग पर इंडियन ऑयल कारपोरेशन डिपो के पास गुमटी खोलकर बिना मास्क के टैंकर चालको को समान देना दुकानदारों को उस वक़्त महंगा पड़ गया..

अरविन्द शर्मा

छग/कोरबा/कटघोरा: दर्री-कटघोरा मार्ग पर इंडियन ऑयल कारपोरेशन डिपो के पास गुमटी खोलकर बिना मास्क के टैंकर चालको को समान देना दुकानदारों को उस वक़्त महंगा पड़ गया जब निरीक्षण के दौरान वहां से गुजर रही कटघोरा एसडीएम की नजर उन पर पड़ी. कटघोरा अनुविभाग की एसडीएम सूर्यकिरण तिवारी ने फौरन इसकी सूचना नगर निगम कोरबा के दर्री जोन के कमिश्नर व नोडल अफसर को दी और कार्रवाई के निर्देश दिए.मौके पर पहुंची नगर निगम कोरबा की टीम ने तत्काल तीन गुमटी-दुकानों को आगामी सात दिनों के लिए सील करते हुए उन्हें दंडात्मक कार्रवाई की चेतावनी दी. एसडीएम के निर्देश पर अफसरों के द्वारा आसपास मौजूद भीड़ को भी सामाजिक दूरी बनाए रखने, पूरे वक़्त मास्क पहनने और अन्य कोविड प्रोटोकॉल के शत प्रतिशत पालन करने की भी कड़ी चेतावनी दी गई.Katghora: IODL chowk overlooks Kovid protocol, pass zone command seals three shops on SDM's instructions

गौरतलब है कि आईओसीएल के डिपो के आसपास हरदिन बड़ी संख्या में ईंधन वाले टैंकरों का आवागमन लगा रहता है. इन टैंकरों के ड्राइवर व क्लीनर्स को समान मुहैय्या कराने छोटे व्यवसायियों ने डिपो के आसपास कई दुकानें और गुमटियां खोल रखी है. कोरोना संक्रमण के रोकथाम के लिए शासन द्वारा लागू लॉकडाउन में सभी व्यवसायियों को अपनी दुकानें पूर्णतः बन्द रखने की समझाइस दी गई थी बावजूद प्रशासन ने इन निर्देशो की अनदेखी करते हुए गुमटी संचालक सामानो की खरीदी-बिक्री कर रहे थे.

इस तरह के असुरक्षित लेनदेन से संक्रमण के बढ़ने की आशंका भी बढ़ रही थी जिसे देखते हुए एसडीएम के दिशानिर्देश पर निगम के दर्री जोन के अमले ने तीन दुकानों को सात दिवस के लिए सील कर दिया. एसडीएम ने दुकानदारों को कोविड गाइडलाइन के अनुपालन के लिए पूर्व में भी समझाइस दी थी. इस दौरान निगम की टीम में दर्री ज़ोन कमिश्नर अरुण शर्मा, सहायक अभियंता योगेश राठौर व जोन प्रभारी शशांक दुबे शामिल थे.

Katghora: IODL chowk overlooks Kovid protocol, pass zone command seals three shops on SDM's instructions

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button