कटघोरा नगर पालिका का सब्जी विक्रेताओं पर अत्याचार, बड़े व्यापारी की मौज

अरविंद शर्मा:

कटघोरा: अपने कार्यो को लेकर हमेशा विवादों के घेरे में बनी रहती है। अभी त्योहारी सीजन चल रहा है और सड़कों पर ट्रैफिक व्यवस्था चरमरा गई है। बड़े व्यापारियो ने सड़क को अपनी जागीर समझ कर अपना कब्जा जमा कर दुकानों का सामान सड़को पर बिखेर दिया है। तथा छोटे व्यापारी सब्जी विक्रेताओ को नगर पालिका की कार्यवाही का शिकार होना पड़ रहा है।

सब्जी विक्रेताओ के लिए व्यवस्थित स्थान नही होने के कारण खाली जगह देखर अपनी दुकान लगा कर परिवार का भरण पोषण कर रहे हैं। इनकी दुकान से भला किसी को क्या परेशानी हो सकती है लेकिन जब व्यवस्था की बात आती है तो हमेशा इन्ही को कार्यवाही का सामना करना पड़ता है।

वाद विवाद की स्थिति पैदा

वार्ड 4 बाजार मोहल्ला में सब्जी विक्रेताओं के लिए जगह निर्धारित है लेकिन सड़क बैठे सब्जी विक्रेताओं का कहना है कि हम निर्धारित स्थान (बाजार मोहल्ला) में जाते हैं तो वहाँ वाद विवाद की स्थिति पैदा हो जाती है और जगह भी बहुत छोटी है। इसलिए हम सड़क किनारे सब्जी बेचने को मजबूर हैं।

शासन केवल हमारे ऊपर ही कार्यवाही करता है बड़े व्यापारियो को हमेशा छोड़ दिया जाता है।कार्यवाही सभी पर होनी चाहिए। बड़े व्यापारी त्योहारी सीजन में सड़कों पर अपना कब्जा जमा लेते हैं जिससे ट्रैफिक बाधित होता है और दुर्घटनाओं की स्थिति पैदा होती है।

सड़क किनारे अस्त व्यस्त रूप से पार्किंग वाहनों से कभी भी दुघर्टना घट सकती है। नगर में अभी ए पी शापिंग माल का उद्घाटन हुआ है लेकिन पार्किंग व्यवस्था नही होने के कारण सड़को पर बेतरतीब ढंग से वाहन खड़े कर दिए जा रहे हैं जो कि आवागमन में बाधा डालने के साथ दुर्घटनाओं को न्योता दे रहे हैं।

बड़े व्यापारियो पर किसी भी प्रकार की कार्यवाही नही की जाती। आखिर नगर पालिका बड़े व्यापारियों पर कार्यवाही क्यो नही करती ये तो स्पष्ठ नही है लेकिन हर बार अतिक्रमण को लेकर छोटे व्यापारियों को शासन की प्रताड़ना झेलनी पड़ती है।

नगर पालिका को एक पक्षीय कार्यवाही ना करते हुए सड़क से सभी को हटाने की आवश्यकता है ताकि आवागमन का रास्ता सुचारू रूप से व्यवस्थित रहे और दुर्घटनाओं पर काबू पाया जा सके।

Back to top button