कटघोरा : नशे के कारोबारियों में मचा हड़कंप,नशेड़ी हुए व्याकुल

एकाएक पुलिस के सख्त रवैये से नशे के कारोबारियों में हड़कंप मचा हुआ है,नशीली वस्तुओँ की बिक्री बंद कर एक कोने में दुबक कर कह रहे नया थाना प्रभारी बहुत कड़ा है।

कटघोरा:एकाएक पुलिस के सख्त रवैये से नशे के कारोबारियों में हड़कंप मचा हुआ है,नशीली वस्तुओँ की बिक्री बंद कर एक कोने में दुबक कर कह रहे नया थाना प्रभारी बहुत कड़ा है।दरअसल एसपी कोरबा भोजराज पटेल ने जिले के सभी थानों को जुआ,सट्टा,अवैध शराब पर अभियान चलाकर कार्यवाही करने निर्देश जारी किये है।जिस पर थाना प्रभारी सख्ती से अपने दायित्वों का निर्वहन कर रहे हैं।इसी कड़ी में थाना कटघोरा प्रभारी लखनलाल पटेल अवैध कार्यो पर सीधे कार्यवाही कर रहे हैं लिहाजा नशे के कारोबारियों की नश हिल गई है जो अब इन्हें दुकानदारी बंद होने की चिंता सता रही है।

निरीक्षक लखनलाल पटेल के थाना कटघोरा आमद देते ही क्षेत्र में अवैध नशे के कारोबारियों की चुले हिल गई है।सूत्र बताते हैं कि ये,अब ग्राहकों को कहते फिर रहे कि नया थानेदार बहुत कड़ा है पहले थोड़ा समझ ले दुकानदारी तो बाद में कर लेंगे अगर पकड़े गए तो सीधे अपराध बना देंगे।पूर्व थाना प्रभारी अविनाश सिंह ने भी क्षेत्र में अवैध कार्यो पर जमकर लगाई थी इनके कार्यकाल में भी कई बड़ी बड़ी कार्यवाही देखने को मिली थी।

अवैध शराब

दरअसल कटघोरा थाना क्षेत्र के कई इलाकों में अवैध शराब व गांजे का कारोबार खूब फल फूल रहा है।युवा पीढ़ी भी इस नशे की गिरफ्त से बच नही पाई है।नशे ने कई घरों को तबाह कर दिया है।लोगो के खून पसीने की गाढ़ी कमाई का एक हिस्सा सीधे नशे के कारोबारियों की जेब मे चला जाता है।आये दिन गली मोहल्लों व घरों में ऐसे नजारे देखने को मिल जाते हैं जहां नशा अपना असर दिखा रहा होता है।

थाना कटघोरा में नए थाना प्रभारी की शिरकत से अब लोगो की जुबा से निकल रहा है कि अगर नशे पर लगाम लग जाये तो यहाँ का वातावरण सुधर जाए।प्रभारी लखनलाल पटेल पूर्व से ही अवैध शराब पर सीधे कार्यवाही करने के नाम से जाने जाते हैं।जिस थाने में इनकी आमद होती है वहाँ अवैध शराब पर कार्यवाही निश्चित मानी जाती है।प्रभारी के अवैध शराब पर कार्यवाही से क्षेत्र के अवैध कारोबारियों में हड़कंप मचा हुआ है।अब प्रभारी लखनलाल पटेल ऐसे कारोबारियों पर किस तरह लगाम कसेंगे यह देखने वाली बात होगी।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button