कटघोरा : प्रधान आरक्षक की सूझबूझ से महिला पहुंची सकुशल घर, पारिवारिक कलह से परेशान महिला जा रही थी अपनी इहलीला समाप्त करने

कोरोना के बढ़ते संक्रमण की वजह से कोरबा जिले में धारा 144 के साथ लॉक डाउन लगया गया है जोकि 17 मई तक स्थितिनुसार निर्धारित है.

अरविन्द शर्मा

कोरबा/कटघोरा : कोरोना के बढ़ते संक्रमण की वजह से कोरबा जिले में धारा 144 के साथ लॉक डाउन लगया गया है जोकि 17 मई तक स्थितिनुसार निर्धारित है. जिला प्रशासन के साथ साथ पुलिस प्रशासन भी लॉक डाउन का पालन कराने कंधे से कंधा मिलाकर चल रहा है . ताकि कोरोना के बढ़ते संक्रमण की चेन को रोका जा सके . पुलिस की टीम पेट्रोलिंग कर क्षेत्र में लॉक डाउन की स्थिति की निगरानी करती है और सख्ती से पालन कराने लोगों को समझाइस देती है.

कटघोरा थाने में पदस्थ प्रधान आरक्षक संदीप पांडेय व आरक्षक शिव शंकर परिहार आज सुबह अपनी टीम के साथ लॉक डाउन की निगरानी पर पेट्रोलिंग पर कटघोरा थाना से कसनिया होते हुए जड़गा मोड़ पर पहुचे तब उन्होंने एक महिला को जंगल की ओर तेज रफ्तार में जाते हुए देखा. प्रधान आरक्षक संदीप पांडेय शक के आधार पर महिला को देख पेट्रोलिंग गाड़ी को रुकवाकर महिला का पीछा करते हुए उसे रोका.

महिला के रुकने पर संदीप पांडेय ने उस महिला से पूछताछ की तो महिला ने बड़ी मुश्किल से बताया कि वो आत्म हत्या करने जा रही है. महिला की बात सुनकर संदीप पांडेय ने पूछा कि किस वजह से आत्महत्या करने जा रही हो तो महिला ने रोते हुए बताया कि उसके घर में रोज झगड़ा होता और इससे परेशान होकर आज वो आत्महत्या करने जा रही है. पूछने पर बताया कि वह लखनपुर की निवासी है.

महिला की बातों को सुनकर प्रधान आरक्षक ने पेट्रोलिंग टीम को लखनपुर भेजकर परिवार के सदस्यों को जड़गा मोड़ पर बुलाया और महिला और उसके परिवार के सदस्यों को समझाइस देकर उन्हें सकुशल घर पहुंचाया. प्रधान आरक्षक संदीप पांडेय की सूझ बूझ और समझाइस से आज एक परिवार में अनहोनी होने से टल गई.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button