क्रिकेट

कठुआ गैंगरेप मामला : इस खिलाड़ी ने कहा – ‘Mr. System’ हिम्मत है तो अपराधियों को सजा दो

गैगरेप के बाद बच्ची की हत्या

नई दिल्लीः 8 साल की बच्ची के साथ जम्मू कश्मीर के कठुआ जिले में हुए गैंगरेप और हत्या के मामले में भारतीय टीम के ओपनर गौतम गंभीर ने देश के सिस्टम पर नाराज़गी जाहिरा किया। गंभीर ने अपने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा- ‘भारतीय चेतना का उन्‍नाव और फिर कठुआ में बलात्‍कार किया गया। उन्होंने ने कहा की अब इसकी, हमारे सड़ रहे सिस्‍टम में हत्‍या की जा रही है। मैं तुम्‍हे चुनौती देता हूं, सामने आओ मिस्‍टर सिस्‍टम हिम्‍मत है तो अपराधियों को सजा दो।’

इसके बाद गंभीर ने अपने अगले ट्वीट में लिखा, ‘कठुआ की हमारी पीडि़त बेटी की वकील दीपिका सिंह राजावत को परेशान करने वाले और चुनौती देने वाले लोगों विशेष रूप से वकीलों को शर्म आनी चाहिए। बेटी बचाओ से अब क्या अब हम बलात्कारी बचाओ हो गए हैं?’

गैगरेप के बाद बच्ची की हत्या

कठुआ जिले में बीते जनवरी माह में 8 साल की बच्ची को बंधकर बनाया गया आैर कई लोगों ने उसके साथ बलात्कार किया। दरिंदगी की हद तो तब पार हो गईं जब उसकी हत्या कर जंगल में फेंक दिया गया। जम्मू कश्मीर पुलिस की अपराध शाखा ने सोमवार को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में 15 पृष्ट का आरोप पत्र दाखिल किया। पुलिस रिपोर्ट में खुलासा हुआ कि आरोपियों ने 11 जनवरी को बच्ची का अपहरण किया और अपने अन्य साथी जो मेरठ में रहता था उसको इसकी जानकारी दी। आरोपियों ने विशाल को कहा कि अगर वह अपनी हवस मिटाना चाहता है तो जल्दी आ जाए।

12 जनवरी को विशाल जंगोत्रा कठुआ के रासना गांव पहुंचा, उसने बंधक बनाई लड़की को नशे की टेबलेट दी और बच्ची की कई बार रेप किया गया। पकड़े गए आरोपियों ने बताया कि हवस मिटने पर वे बच्ची को मार कर उसकी लाश को कहीं छिपाना चाहते थे। इस गैंगरेप में शामिल एक पुलिस अधिकारी दीपक खजूरिया ने आरोपी लड़कों से कहा कि थोड़ा इंतजार करो, मैं भी अपनी हवस मिटा लूं। पुलिस रिपोर्ट के मुताबिक इस पूरे घटनाक्रम का मास्टरमाइंड संजी राम को बताया गया है। बकरवाल समुदाय की इस मासूम बच्ची का अपहरण, रेप और मर्डर इलाके से इस अल्पसंख्यक समुदाय को हटाने की एक सोची-समझी साजिश का हिस्सा थी।

Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *