दिल्लीराज्य

केजरीवाल से इस वजह से नजर है ‘आप’ के नेता

पार्टी की ओर संसद में भेजे गए संजय सिंह ने इस प्रकरण में अरविंद केजरीवाल से दूरी बना ली है. केजरीवाल के अकाली दल नेता और पंजाब के पूर्व सीएम प्रकाश सिंह बादल के रिश्तेदार बिक्रम मजीठिया से माफी मांगने से आम आदमी पार्टी में बवाल पैदा हो गया है.

केजरीवाल से इस वजह से नजर है ‘आप’ के नेता

नई दिल्ली: पार्टी की ओर संसद में भेजे गए संजय सिंह ने इस प्रकरण में अरविंद केजरीवाल से दूरी बना ली है. केजरीवाल के अकाली दल नेता और पंजाब के पूर्व सीएम प्रकाश सिंह बादल के रिश्तेदार बिक्रम मजीठिया से माफी मांगने से आम आदमी पार्टी में बवाल पैदा हो गया है.

पार्टी के कई नेता इससे खासे नाराज हैं. पहले से ही केजरीवाल और पार्टी से नाराज नेताओं ने सार्वजनिक रूप से हमला किया है तो अब पार्टी में वरिष्ठ पदों पर बैठे नेताओं ने भी सरेआम नाराजगी दिखाई है.

संजय ने कहा है कि वह अरविंद केजरीवाल के मसले पर कुछ नहीं कहेंगे. लेकिन उन्होंने फिर साफ कहा कि मैं अपनी बात पर कायम हूं कि मजीठिया ड्रग्स डीलर है और उसे जेल जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि पार्टी की राज्य इकाई में नाराजगी है और आप नेताओं को भगवंत मान से बात करनी चाहिए.

अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी, जिसके नेताओं पर 20 से ज्यादा मानहानि के मामले दर्ज हैं, ने उन मामलों को निपटाने का फैसला किया है. केजरीवाल अपने ऊपर चल रहे सभी मानहानि के मामलों को खत्म करने के लिए सभी संबधित नेताओं से बात करेंगे.

अरुण जेटली, नितिन गडकरी समेत कई नेताओं ने केजरीवाल पर मानहानि के मुकदमे कर रखे हैं. दिल्ली सरकार के सूत्रों के मुताबिक सीएम केजरीवाल को रोजाना अदालत में घंटों बर्बाद करने पड़ रहे हैं जिससे उनका कामकाज प्रभावित हो रहा है. इसलिए अब सभी मुकदमे खत्म करने के लिए कोशिश करेंगे.

केजरीवाल ने अकाली दल के नेता मजीठिया को लिखे ‘माफीनामे’ में लिखा है, ‘अब मैं जान गया हूं कि सारे आरोप निराधार हैं, इसलिए मैं आपके खिलाफ लगाए गए सभी आरोप और बयान वापस लेता हूं और उनके लिए माफी भी मांगता हूं.’

उधर पंजाब में आम आदमी पार्टी के नेता और राज्य विधानसभा में विपक्ष के नेता सुखपाल सिंह खैरा ने केजरीवाल के इस फैसले पर हैरानी जताते हुए कहा है कि ‘हम केजरीवाल द्वारा माफी मांगे जाने से आश्‍चर्यचकित हैं और हमें यह कहने में कोई हिचक नहीं है कि उनके जैसे कद के नेता द्वारा इस तरह समर्पण करने से पहले हमसे संपर्क नहीं किया गया.’

Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *