सभी बैठके रद्द केजरीवाल की तबियत बिगड़ी

9 दिन के धरने के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल की तबियत बिगड़ गयीं हैं

9 दिन के धरने के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल की तबियत बिगड़ गयीं हैं वजह हैं 9 दिन का तनाव और सुबह शाम का सैर और खानपान की दिनचर्या बिगड़ गई हैं जिसके चलते बुधवार की सभी बैठके रद्द कर दी गयीं हैं

यानी अब अधिकारियों के साथ ‘सुरक्षा मुद्दे’ की कोई बैठक आज नहीं होगी.

मुख्यमंत्री कार्यालय सूत्रों के मुताबिक केजरीवाल मधुमेह या डायबिटीज की बीमारी से पीड़ित इसलिए सुबह शाम एक एक घंटा की सैर और नियमित संतुलित खानपान वो रखते हैं जो कि धरने के धरने के नहीं हो सका, जिससे तबीयत खराब हुई. जिससे उनका ब्लड शुगर बहुत बढ़ गया

मंगलवार शाम को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एलजी निवास से अपना 9 दिन का धरना खत्म किया था. केजरीवाल के मुताबिक दिल्ली सरकार के IAS अधिकारियों ने मंत्रियों की बुलाई मीटिंग में आना शुरू कर दिया जो कि सरकार की जीत है. इसके बाद दिल्ली सरकार के अफसरों के संगठन ने केजरीवाल को खुली चिट्ठी लिखकर सुरक्षा देने के मुद्दे पर दिल्ली सचिवालय में बैठक बुलाने को कहा. इसके बाद बाद अटकलें थी कि हो सकता है मुख्यमंत्री बुधवार को IAS अफसरों के साथ वो महत्वपूर्ण बैठक बुला लें लेकिन तबीयत खराब होने के चलते अब कोई बैठक फिलहाल प्रस्तावित नहीं है.

आपको बता दें कि मंगलवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एलजी हाउस में अपना धरना खत्म कर दिया. धरना खत्म करने के बाद दिल्ली के सीएम ने कहा कि पिछले 9 दिनों का अनुभव बहुत ही अच्छा रहा. हम 4 तो अंदर थे, आप सबने और सभी पार्टियों के सहयोग से जो आपने बाहर करिश्मा दिखाया, जनसैलाब सड़क पर उतरा, उसके बिना यह सब मुमकिन नहीं था. सभी साथियों और पार्टियों का आभार.

वहीं धरने पर बैठे मनीष सिसोदिया और सत्येंद्र जैन को तबीयत खराब होने के बाद उन्‍हें अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था, लेकिन केजरीवाल और गोपाल राय एलजी हाउस में ही जमे थे. सिसोदिया और सत्येंद्र जैन को हालांकि बाद में अस्पताल से छुट्टी मिल गई थी.

Back to top button