राष्ट्रीय

केजरीवाल के दंगल में पत्नी सुनीता भी कूंदी, एलजी से किया सवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पिछले चार दिनों से अपने मंत्रियों के साथ उप-राज्यपाल के आवास पर धरने पर बैठे हैं। केजरीवाल की इस लड़ाई में उनकी पत्नी भी कूद पड़ी हैं। गुरुवार शाम सुनीता केजरीवाल ने अपनी सास, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया और सत्येंद्र जैन की पत्नी के साथ उप-राज्यपाल के घर की ओर जा रही थीं. वहां उन्हें सुरक्षाकर्मियों ने रोक लिया।

सुरक्षाकर्मियों के रोके जाने के बाद सुनीता ने ट्वीट करते हुए लिखा, एलजी महोदय, क्या हम चार महिलाएं आपकी सुरक्षा के लिए किसी भी तरह का खतरा हैं? आप हमें अपने घर की ओर आने वाली सड़क में जाने से क्यों रोक रहे हैं? कृपया हस्तक्षेप करें। कृपया हर किसी को धमकी देने वाला न समझें।

केजरीवाल का आरोप नहीं दिया गया भाई से मिलने : इससे पहले पहले सीएम केजरीवाल ने ट्वीट कर आरोप लगाया कि उनका भाई पुणे से मिलने आया था, लेकिन मिलने नहीं दिया गया। बता दें कि अरविंद केजरीवाल सहित तीन मंत्री उप-राज्यपाल अनिल बैजल के खिलाफ उनके निवास पर पिछले चार दिनों से धरना दे रहे हैं। वही विपक्षी पार्टी बीजेपी सीएम के खिलाफ उनके घर पर धरना दे रही है।

आमरण अनशन पर बैठे मनीष सिसोदिया और सत्येंद्र जैन का गुरुवार सुबह रुटीन चेकअप हुआ। चेकअप में पता चला कि सत्येंद्र जैन की तबीयत ठीक नहीं है।

बीजेपी नेताओँ ने सीएम आवास पर दिया धरना : केजरीवाल के धरने के विरोध में बीजेपी नेता बुधवार को सीएम आवास में धरने पर बैठे। दिल्ली बीजेपी नेता मनजिंदर सिरसा ने फोटो ट्वीट करते हुए लिखा कि केजरीवाल को नौटंकी बंद करनी चाहिए और काम पर वापस आना चाहिए। इस धरने में आप के बागी नेता कपिल मिश्रा भी शामिल रहे।

दिल्ली में आम आदमी पार्टी अपनी तीन मांगों के लेकर धरने पर बैठी है, जिसमें उन्होंने उप-राज्यपाल से मांग की है कि आईएएस अधिकारियों की गैरकानूनी हड़ताल को तुरंत खत्म कराएं क्योंकि वह सर्विस विभाग के मुखिया हैं। उनकी दूसरी मांग कि काम रोकने वाले अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें और तीसरी मांग है कि राशन की डोर-स्टेप-डिलीवरी की योजना को मंजूर करें।

Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.