केरल हाईकोर्ट से पादरियों को झटका, अग्रिम जमानत याचिका खारिज

तिरुवनंतपुरम:

केरल हाईकोर्ट से बलात्कार के तीन आरोपियों की अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी गई है। हाईकोर्ट ने पादरियों को अग्रमि जमानत देने से इनकार कर दिया है। कोर्ट ने उनकी गिरफ्तारी पर किसी तरह की रोक नहीं लगाने की भी बात कही है।

मलंकारा ऑर्थोडॉक्स चर्च के दोनों पादरियों अब्राहम वर्गीस और जॉब मैथ्यू ने अदालत से उनकी गिरफ्तारी पर रोक लगाने की मांग की थी।

गौरतलब है कि केरल पुलिस प्रमुख ने अपराध शाखा को कोट्टायम स्थित मलंकारा ऑर्थोडॉक्स चर्च के पादरियों द्वारा एक महिला के साथ यौन उत्पीड़न मामले की जांच करने के आदेश दिए हैं।

पुलिस को दिए अपने बयान में पीड़ित महिला ने कहा कि ऑर्थोडॉक्स चर्च के पादरी बिनू जॉर्ज ने उन्हें 2014 में कुछ चर्चाओं के लिए कार्यालय में बुलाया और कथित रूप से यौन उत्पीड़न किया।

वहीं केरल पुलिस ने डीजीसीए को पत्र लिखा है। पत्र में चर्च के आरोपी पादरियों को बाहर नहीं जाने का जिक्र किया है।

-पादरियों पर गंभीर आरोप

पुलिस ने अपनी जांच में कहा कि पादरी पर गंभीर आरोप हैं और पुलिस को शुरुआती जांच में पादरी के खिलाफ काफी साक्ष्य मिले हैं। महिला को पादरी ने 2014 में अपने कार्यालय में बुलाया और कहा कि उन्हें कुछ परिवार मामलों के बारे में चर्चा करने की जरूरत है। बाद में महिला से पादरी और उसके तीन अन्य साथियों ने बलात्कार किया।

पीड़ित महिला का बयान दर्ज करने के बाद उपादरी के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। मामले की जांच के लिए अपराध शाखा की एक टीम बना दी गई है। उधर रेप के शिकार महिला के पति ने कहा है कि दोषी पादरियों को चर्च से हटाया जाना चाहिए।

उसने कहा कि उसकी पत्नी ने उसे ऐसी बातें बताई हैं जो कोई आदमी अपनी पत्नी के लिए नहीं सुन सकता। लेकिन आज वो बातें सार्वजनिक तौर पर चर्चा का विषय बन चुकी हैं। उसका कहना है कि ऐसे लोगों को पादरियों के पद से बर्खास्त किया जाना चाहिए।

-केरल में बढ़ रहीं चर्च में रेप की घटनाएं

बता दें कि केरल में इन दिनों पादरियों के खिलाफ रेप के आरोपों में बढ़ोतरी हुई है। केरल उच्च न्यायालय ने रेप के एक अन्य मामले में सोमवार को सनसनीखेज रूढ़िवादी चर्च के दो आरोपी पादरियों की अग्रिम जमानत ठुकरा दी थी।

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक अपराध शाखा अन्य दो पादरियों जॉनसन मैथ्यू और जैस जॉर्ज को गिरफ्तार करने की संभावना है। अपराध शाखा के अधिकारियों ने पुष्टि की है की दोनों पुजारी फरार हैं।

Back to top button