खडग़े ने छठी बार किया समिति की बैठक का बहिष्कार, नहीं हुआ शामिल

विपक्ष के नेता के लिए कम से कम 55 सीट अनिवार्य है

नई दिल्लीः

लोकसभा में बुधवार को होने वाले बैठक में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खडग़े ने समिति की बैठक में शामिल होने से इंकार कर दिया ।

उन्होंने कहा है कि वह‘विशेष आमंत्रित सदस्य’के तौर पर इसमें शामिल नहीं हो सकते। यह इस साल में छठी बार है जब खडग़े ने लोकपाल चयन समिति की बैठक का बहिष्कार किया है।

खड़गे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखे पत्र में कहा, ‘‘यह परेशान करने वाली बात है कि सरकार ने मुझे चयन समिति की बैठक में विशेष आमंत्रित सदस्य के तौर पर आमंत्रित करना जारी रखा है

जबकि लोकपाल अधिनियम-2013 की धारा चार में विशेष आमंत्रित सदस्य का कोई प्रावधान नहीं है।’’

इससे पहले खड़गे ने 28 फरवरी, 10 अप्रैल, 18 जुलाई, 18 अगस्त और चार सितंबर को पत्र लिखकर लोकपाल चयन समिति की बैठकों का विरोध किया था।

खड़गे ने कहा कि जब तक सबसे बड़ी विपक्षी पार्टी के नेता को पूर्ण सदस्य के तौर पर समिति की बैठक में नहीं बुलाया जाता तब तक वह शामिल नहीं होंगे।

लोकसभा में विपक्ष का नेता ही चयन प्रक्रिया का सदस्य हो सकता है और चूंकि खड़गे को यह दर्जा हासिल नहीं है इसलिए वह इस समिति में शामिल नहीं हैं।

विपक्ष के नेता का दर्जा हासिल करने के लिए कम से कम 55 सीट अथवा लोकसभा की कुल सदस्य संख्या का दस फीसदी सीट होना अनिवार्य है।

Back to top button