खैरागढ़ उपचुनाव: 6 महीने के भीतर होगा चुनाव, कवर्धा हिंसा का दिखेगा भारी असर?

रायपुर. जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जोगी के विधायक देवव्रत सिंह के आकस्मिक निधन के बाद खैरागढ़ विधानसभा की सीट खाली हो गई है यहां अब 6 महीने के भीतर उपचुनाव कराना होगा। आगामी 4 मार्च से पहले यहां नए विधायक का चुनाव कराना होगा। संभावना जताई जा रही है कि उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव के पहले चरण के साथ ही सीट पर उप-चुनाव कराया जाएगा।

राज्य निर्वाचन आयोग सीट खाली होने की सूचना केन्द्रीय चुनाव आयोग को भेजेगा जिसके बाद चुनाव आयोग निर्धारित समयावधि में यहां उपचुनाव के लिए शेड्यूल जारी करेगा। भूपेश सरकार में यह चौथा उपचुनाव होगा। खैरागढ़ की जनता हर बार नए उम्मीदवार को विधायक चुनती है, इस लिहाज से यह उपचुनाव भी सत्तापक्ष और विपक्ष दोनों के लिए काफी अह्म और रोचक होगा। खैरागढ़ से लगे कवर्धाा में पिछले दिनों हुई हिंसा का इस चुनाव पर असर दिखाई दे सकता है वहीं मंत्री मोहम्मद अकबर की प्रतिष्ठा भी इस उपचुनाव में दांव पर होगी।

कांग्रेस सरकार जहां पिछले उपचुनावों की तरह ही यहां भी अपनी जीत के लिए जोर लगाएगी वहीं भारतीय जनता पार्टी इसे 2023 विधानसभा चुनाव के सेमीफायनल के तौर पर अपना कब्जा जमाने के लिए पूरी ताकत झोंकेगी। इसके अलावा जोगी कांग्रेस भी अपनी सीट को बरकरार रखने कोई कसर नहीं छोडऩा चाहेगी। सभी हालातों और समीकरण को देखते हुए तमाम सियासी दल अभी से उपचुनाव के लिए रणनीति तैयार करने में जूट गए हैं।

खैरागढ़ चुनाव के लिए सुगबुगाहट शुरू हो गई है। कांग्रेस इस रिक्त सीट पर कब्जा कर जहां अपनी ताकत और मजबूत करने की तैयारी है वहीं भाजपा इस सीट पर कब्जा कर 2023 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को सत्ता से हटाने की अपनी तैयारी को धार देने की कवायद करेगी तो जोगी कांग्रेस हर हाल में सीट पर कब्जा बरकरार रखने की कोशिश करेगी।

चर्चा है कि कांग्रेस अपने पिछले उम्मीदवार को यहां फिर से मैदान में उतार सकती है वहीं भाजपा कोमल जंघेल के अलावा नया चेहरा पूर्व मुख्यमंत्री के भतीजे विक्रांत सिंह को भी आजमा सकती है। जबकि जोगी कांग्रेस देवव्रत सिंह की पत्नी को मैदान में उतार सकती है। बहरहाल अभी उपचुनाव की सुगबुगाहटे ही शुरू हुई हैं आने वाले दिनों में तमाम दल उप चुनाव के लिए अपने पत्ते खोलेंगे तो कई और दावेदारों के नाम सामने आएंगे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button