Uncategorizedछत्तीसगढ़

‘खाकी आइज’ करेगी रायपुर में आपके घर की निगरानी, करना होगा यह काम

आजाद चौक थाने से इसकी शुरुआत की गई है। खाकी आइज से अब पुलिस आपके घर की निगरानी रखेगी।

रायपुर। शहर में सूने मकानों में लगातार चोरी की वारदातें हो रही हैं। कई चोर गैंग सक्रिय हैं। चोरी की घटना से बचाने और चोरों पर शिकंजा कसने रायपुर पुलिस ने अनोखी पहल की शुस्र्आत की है। रायपुर शहर में ‘खाकी आइज’ नाम से पायलट प्रोजेक्ट शुरू किया गया है। आजाद चौक थाने से इसकी शुरुआत की गई है। खाकी आइज से अब पुलिस आपके घर की निगरानी रखेगी।

मतलब खाकी आइज नाम से पुलिस ने इंटरनेट मीडिया पर एक लिंक तैयार किया है, जिसे वाट्सएप के माध्यम से थाना क्षेत्र के लोगों तक अलग-अलग ग्रुप के माध्यम से भेजा रहा। घर से बाहर किसी कार्यक्रम में आने-जाने पर लोगों को इसके माध्यम से जानकारी देनी होगी। इसके बाद पुलिस आपके घर की निगरानी करेगी। पुलिस की पैट्रालिंग टीम आपकी सुरक्षा के लिए मौजूद रहेगी।

आपको यह करना होगा

लिंक में क्लिक करते ही एक फार्म खुलेगा, जिसमें आपको अपना नाम, पता, मोबाइल नंबर, घर से जाने की तारीख और वापस आने की तारीख बतानी होगा। यह फार्म पूरी तरह से गापनीय रहेगी। इसकी जानकारी केवल थाना क्षेत्र सीएसपी और थाना प्रभारी के पास होगी। फार्म मिलने के बाद पुलिस लगातार उस क्षेत्र में पैट्रोलिंग करेगी। इसके अलावा भी नजर रखी जाएगी।

आजाद चौक व कबीर नगर के बाद जल्द ही दूसरे थानों में किया जाएगा शुरू अभी इसकी शुरुआत आजाद चौक और कबीर नगर थाने से की गई है। जल्द ही सभी थाना क्षेत्र में इसे लागू करने की योजना है। जिन थाना क्षेत्रों में चोरी की घटनाएं ज्यादा होती हैं, वहां पहले शुरू किया जाएगा।

केस-1 : 13 नवंबर को कुशालपुर में सूने मकान से चार लाख की चोरी

13 नवंबर को पुरानी बस्ती थाना क्षेत्र कुशालपुर में एक कारोबारी के सूने मकान से चोर चार लाख के गहने और जेवर चुराकर ले गए। कारोबारी का परिवार भाईदूज में रिश्तेदार से मिलने गया था। अगले दिन सुबह लौटने पर चोरी का पता चला। उसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। कुशालपुर मलसाय तालाब के पास किराना कारोबारी राजेश पंसारी का मकान है। उनकी पत्नी सुबह बच्चों को लेकर छुईखदान चली गई। कारोबारी भी रात में रिश्तेदार के घर चले गए। सुबह आठ बजे वे रिश्तेदार के घर से लौटे। उन्होंने देखा मेनगेट का ताला गायब और दरवाजा खुला था। अंदर जाकर आलमारी के लाकर में रखे सोने-चांदी के जेवर और एक लाख कैश गायब था।

केस-2 : 17 लाख की चोरी की वारदात

कुशालपुर निवासी बिजली विभाग के पूर्व कक्ष अधिकारी राजेंद्र ओझा ने घटना की रिपोर्ट थाने में दर्ज करवाई थी। वारदात वाली रात को वह अपने परिवार के साथ सरोना निवासी अपनी बेटी के यहां गए थे। दूसरे दिन जब घर लौटे तो चैनल गेट का ताला टूटा हुआ था। अंदर जाकर देखा तो आलमारी का लाकर टूटा हुआ था और सोने-चांदी के जेवरात और नगदी गायब थी। घटना 26-27 सितंबर की दरमियानी रात की है। चोर ने लगभग 17 लाख की चोरी की वारदात को अंजाम दिया था।

आजाद चौक की सीएसपी अंकिता शर्मा ने बताया कि चोरी की घटनाओं पर नियंत्रण लाने एसएसपी के निर्देश पर पायलट प्रोजेक्ट की शुरुआत की गई है। वाट्सएप के माध्यम से लोगों तक मैसेज भेजा जा रहा है। इसकी मदद से पुलिस सूने मकानों की निगरानी रख सकेगी।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button