अवामी लीग की रैली पर हमले में खालिदा जिया, उनके बेटे सीधे तौर पर संलिप्त – हसीना

ढाका: बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने मंगलवार को अपनी पूर्ववर्ती प्रधानमंत्री खालिदा जिया और उनके ‘‘भगोड़े’’ बेटे तारिक रहमान पर अवामी लीग की 2004 की रैली में ग्रेनेड से हमला करने में मामले में सीधी संलिप्तता के आरोप लगाए। हमले में 24 लोगों की मौत हो गई और वह बाल-बाल बच गई थीं।

उनका बयान ऐसे वक्त में आया है जब विलंबित और लंबे समय से चल रही सुनवाई अब पूरी होने वाली है। हमले की 14वीं बरसी पर उन्होंने यहां कहा, ‘‘इसमें कोई संदेह नहीं है कि बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी, खालिदा जिया (तत्कालीन प्रधानमंत्री) और उनके बेटे (तारिक रहमान) अवामी लीग की रैली पर हुए हमले में सीधे तौर पर संलिप्त थे।’’ जिया जहां भ्रष्टाचार के मामले में जेल में हैं वहीं रहमान ब्रिटेन में राजनीतिक शरण लिए हुए हैं।

गौरतलब है कि 24 अगस्त 2004 को उग्रवादियों ने बंगबंधु एवेन्यू केंद्रीय कार्यालय के सामने अवामी लीग की रैली पर 13 ग्रेनेड बरसाए थे। हमले में 24 लोग मारे गए थे जो अवामी लीग के नेता और कार्यकर्ता थे और मृतकों में दिवंगत राष्ट्रपति जिल्लुर रहमान की पत्नी भी शामिल थीं। हमले में 500 लोग जख्मी हो गए थे। हमले में हसीना बाल-बाल बच गई थीं और ग्रेनेड विस्फोट के प्रभाव से उनके सुनने की क्षमता खत्म हो गई।

Back to top button