Khandwa News: 784 करोड़ की सिंचाई योजना अधूरी, खेतों तक नहीं आया पानी

भारतीय किसान संघ ने उद्वहन सिंचाई योजना काम जल्द पूरा करने की मांग उठाई है।

Khandwa News खंडवा। जिले में छैगांवमाखन उद्वहन सिंचाई योजना का काम समय पर पूरा नहीं होने से किसानों की चिंता बढ़ गई है। 784 करोड़ की छैगांवमाखन उद्वहन सिंचाई योजना तीन साल में पूरी हो जानी थी लेकिन चार साल बीत जाने का बाद भी काम अधूरा पड़ा है।

किसानों को उम्मीद थी कि रबी के सीजन में इस साल नहरों के माध्यम से खेतों तक पानी पहुंच जाएगा, लेकिन पानी पहुंचना तो दूर नहरों का निर्माण ही अधूरा रह गया है। ऐसे में गेहूं और चने की फसल को पर्याप्त पानी नहीं मिलने से फसल प्रभावित हो सकती है।

भारतीय किसान संघ ने उद्वहन सिंचाई योजना काम जल्द पूरा करने की मांग उठाई है। किसान संघ के नरेंद्र पटेल ने बताया कि भू जलस्तर लगातार गिरने से कुओं में पानी कम हो रहा है। गेहूं और चने की फसल को सिंचाई के लिए आधिक पानी लगता है। इस साल उद्वहन सिंचाई का काम पूरा हो जाता तो किसानों को रबी की फसल के लिए लाभ मिल सकता था।

58 गांवों को मिलना है लाभ

इस उद्वहन सिंचाई योजना से छैगांवमाखन क्षेत्र के आसपास के 58 ग्रामों की 35 हजार हेक्टेयर भूमि सिंचित होना है। योजना को 20 जून 2016 को शासन द्वारा स्वीकृति दी गई थी। योजना का काम 36 माह यानी तीन साल में पूरा होना था। इस योजना के तहत समस्त सिंचाई पाइप लाइन के माध्यम से होना है।

किसानों में बढ़ रहा आक्रोश

सिंचाई योजना का काम पूरा नहीं होने से गांव-गांव में किसानों का आक्रोश बढ़ रहा है। किसानों ने कहा कि प्रशासनिक लापरवाही के कारण समय पर सिंचाई के लिए पानी नहीं मिल पा रहा है। किसान गोविंद सावनेर भोजाखेडी ने कहा कि सिंचाई के लिए पर्याप्त पानी मिल जाए तो उपज का रकबा भी बढ़ेगा।

जितेंद्र सिंह देशगांव, शांतिलाल पटेल बरुड, कृष्णा पटेल अवलिया, दशरथ पटेल मलगांव, तिलोकचंद पटेल सुरगांव, हरकचंद पटेल भूईफल, जितेंद्र पटेल हरसवाड़ा, दीपक पटेल अत्तर, भोलानाथ पटेल रोहणी, चंदुलाल पाटीदार सिरसोद, शंकर पटेल बंजारी, कल्याण सिंह टाकली मोरी, वासुदेव पटेल छैगांव देवी, मुकेश पटेल दोदवाड़ा, मोहन पटेल कोंडावद और जयपाल सिंह पछाया ने भी शासन से योजना का काम जल्द पूरा कराने की मांग उठाई है।

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button