NCERT की किताबों में अब बच्चें पढ़ेंगे पॉक्सो एक्ट के साथ गुड एंड बैड टच

सीबीएसई की कक्षा 6वीं से12वीं तक की सभी किताबों में अब प्रोटेक्शन ऑफ चिल्ड्रेन फ्रॉम सेक्सुअल ऑफेंस (पॉक्सो) अधिनियम और बच्चों की मदद के लिए उपलब्ध हेल्पलाइन के नंबर प्रकाशित किए जा रहे हैं।

रायपुर। सीबीएसई की कक्षा 6वीं से12वीं तक की सभी किताबों में अब प्रोटेक्शन ऑफ चिल्ड्रेन फ्रॉम सेक्सुअल ऑफेंस (पॉक्सो) अधिनियम और बच्चों की मदद के लिए उपलब्ध हेल्पलाइन के नंबर प्रकाशित किए जा रहे हैं। राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद द्वारा किताबों में इसे प्रकाशित कर रहा है। इस नए शैक्षणिक सत्र से यह लागू हो जाएगा।

बच्चों के साथ बढ़ते यौन उत्पीड़न जैसे अपराधों के बारे में उन्हें जानकारी देने के लिए यह फैसला लिया गया है।
अक्सर छोटे बच्चें किसी की गलत नीयत को समझ नहीं पाते। इसलिए यह कदम बच्चों को सुरक्षा और शिकायतों के संदर्भ में जानकारी प्रदान करने के मकसद से उठाया गया है।

एनसीइआरटी के प्रकाशनों के माध्यम से अब पॉक्सो इ-बॉक्स और चाइल्ड हेल्पलाइन नंबर-1098 का प्रचार करने व बच्चों के यौन उत्पीडऩ पर बनी शैक्षणिक फिल्मों की स्कूलों में स्क्रीनिंग की भी तैयारी चल रही है।

Back to top button