अंतर्राष्ट्रीय

किम जोंग उन ने अपनी बहन को बनाया नया सिपहसालार,

उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन ने अपनी छोटी बहन को अपना सिपहसालार बना दिया है. ख़बर है कि ऐसा उसने अमेरिका और अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए की वजह से किया है. दरअसल, उत्तर कोरिया की सरकारी एजेंसी ने इलजाम लगाया है कि सीआईए ने दक्षिण कोरिया के साथ मिल कर इसी साल मई में किम जोंग उन को मारने की कोशिश की थी. हालांकि ये कोशिश नाकाम हो गई मगर कातिल किम जोंग उन के बेहद करीब तक जा पहुंचे थे. इसीलिए इस तानाशाह ने अब अपनी सबसे भरोसेमंद बहन को अपना सिपहसालार बना दिया है.कहते हैं कि मारने वाले से बड़ा बचाने वाला होता है. मगर किम जोंग उन कि किस्मत तो देखिए उसे बचाने वाली उससे उम्र में छोटी है और मारने वाला उससे ताकत में बहुत बड़ा. लेकिन कब कोई छोटा असरदार हो जाए. और ताकतवर बेअसर हो जाए कह नही सकते. वरना कसर तो किम के सबसे बड़े दुश्मन देश अमेरिका ने कोई नहीं छोड़ी थी.

खुलासा हुआ है कि अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए ने इसी साल मई में उत्तर कोरिया के शासक मार्शल किम जोंग उन को मारने की नाकाम कोशिश की थी. वो भी बम या बंदूक से नहीं बल्कि बॉयोकेमिकल पॉयज़न यानी आम ज़ुबान में ज़हर के ज़रिए. मगर एक तरफ सीआईए अगर किम को मारने की कोशिश कर रही है, तो दूसरी तरफ उसकी बहन किम यो जोंग उसे बचाने की कोशिश में जुटी हुई है.

ये नाम नया ज़रूर है मगर किम से इसका रिश्ता अटूट है. बचपन से लेकर अब तक किम जोंग उन की चहेती और अब उसकी रक्षक बन चुकी है बहन किम यो जोंग. अब तो किम ने अपनी बहन को पार्टी में बड़ी जिम्मेदारी भी सौंप दी है. ये जानना दिलचस्प है कि आखिरकार किम यो जोंग उसकी सगी बहन है या सौतेली क्योंकि किम जोंग उन के पिता किम जोंग इन की पांच बीवियां थी. जिनसे उनके कुल सात बच्चे थे.

तो जिस पर किम जोंग उन इतना भरोसा जता रहा है और उसे इतनी अहम जिम्मेदारी सौंप रहा है वो है कौन. किम की ये बहन उसके साथ अक्सर फील्ड दौरों पर और पार्टी के प्रचार अभियान के दौरान दिखती है. ज़ाहिर रिश्ता कोई नज़दीकि ही है वरना भरोसा तो किम अपने भाईयों पर भी नहीं करता है. तो सुनिए किम जोंग उन और किम यो जोंग दोनों एक ही माता-पिता की संतान हैं. और इन दोनों की मां का नाम को योंग-हुई है. जो पिता किम जोंग इल की तीसरी पत्नी थीं. जिनकी मौत साल 2004 में हो चुकी है.

जिस किम जोंग नामक भाई की हत्या मार्शल किम जोंग उन ने मलेशिया में कराई थी, वो किम जोंग इन का सबसे बड़ा बेटा था.. यानी किम जोंग उन का सबसे बड़ा भाई. जिसके बाद किम जोंग इन की बेटी है जिसका नाम किम सुल संग है. जो फिलहाल देश के प्रोपेगैंडा डिपार्टमेंट में काम कर रही है. इसके बाद नंबर आता है किम जोंग चुल का जो फिलहाल वर्कर्स पार्टी ऑफ कोरिया के लीडरशिप डिवीज़न में डिप्टी चीफ की भूमिका निभा रहा है. मगर किम जोंग इन के किसी बेटे या बेटी ने उसके चौथे नंबर के बेटे किम जोंग उन से आगे निकलने की कोशिश नहीं की और जिसने की वो मारा गया.

अपने सभी भाई बहनों में किम जोंग को सबसे ज़्यादा भरोसा अपनी बहन किम यो जोंग पर है. इसीलिए उसने उसे पार्टी में पोलित ब्यूरो का सदस्य बनाया है. जिसके बाद उसका ओहदा अपने भाई के बाद सबसे बड़ा हो गया है. इस तरक्की से पहले भी वो अपने भाई किम जोंग उन की छवि सुधारने में लगी हुई थी. और अब तो उसे किम जोंग उन का रक्षक बना दिया गया है. यानी सीआईए को किम जोंग उन को मारने से पहले किम यो जोंग से होकर गुज़रना होगा.

Summary
Review Date
Reviewed Item
किम जोंग
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.