छत्तीसगढ़

NGO और बिचौलियों से प्रायोजित था किसान सम्मान समारोह- संदीप शर्मा

संदीप शर्मा ने प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा खुद को सम्मानित कराने के कार्यक्रम को हास्यास्पद व शर्मनाक बताया है।

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष संदीप शर्मा ने प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा खुद को सम्मानित कराने के कार्यक्रम को हास्यास्पद व शर्मनाक बताया है।

श्री शर्मा ने कहा कि एक ओर धान खरीदी के नाम पर रोज प्रदेश सरकार के तुगलकी आदेशों से प्रदेश के किसान त्राहि-त्राहि कर रहे हैं और दूसरी तरफ मुख्यमंत्री अपना सम्मान कराकर एक और नौटंकी करने लगे हैं।

किसान मोर्चा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष शर्मा ने कहा कि यह पूरा कार्यक्रम पूरी तरह प्रायोजित था जिसमें कृषि यंत्र, खाद-बीज बेचने वाले एनजीओ के लोगों ने मुख्यमंत्री के सम्मान के नाम पर प्रदेश के किसानों के जख्म को कुरेदने का काम किया है।

ये एनजीओ के लोग किसानों की पीड़ा महसूस नहीं कर सकते क्योंकि वे जमीनी किसान नहीं, व्यापारी हैं जो अपने निजी स्वार्थों के वशीभूत होकर इस तरह के सम्मान समारोह से सत्ता को अपने हितों की पूर्ति के लिए प्रभावित करने का उपक्रम कर रहे हैं।

श्री शर्मा ने कहा कि वर्तमान में प्रदेश के किसानों की जो स्थिति है, वह त्रासद है और प्रदेश का एक भी किसान प्रदेश के मुख्यमंत्री का सम्मान समारोह करने की बात सोच भी नहीं सकता। प्रदेशभर के किसानों में राज्य सरकार की कुनीतियों, बदनीयती और पंगु नेतृत्व के चलते गहन आक्रोश है।

किसान मोर्चा के पूर्व अध्यक्ष शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री का यह सम्मान कार्यक्रम इसलिए भी नौटंकी है क्योंकि उक्त कार्यक्रम के मंच के चित्र में दिख रहे चेहरे किसानों के नहीं हैं। प्रदेश के कृषि मंत्री तक जिस कार्यक्रम में मौजूद न हों, किसान कांग्रेस के नेता पदाधिकारी तक जिस कार्यक्रम में शामिल न हों, उस कार्यक्रम की प्रामाणिकता तो स्वयमेव सवालिया दायरे में आ जाती है।

श्री शर्मा ने कहा कि दरअसल मुख्यमंत्री बघेल की तुगलकशाही के चलते कांग्रेस के नेता, मंत्री और कांग्रेस समर्थक किसानों की आत्मा भी रो रही है और वे ऐसे कार्यक्रमों में शरीक होने से बच रहे हैं।

Tags
Back to top button