जानिए, ब्रेकअप या दिल टूट के बाद महिलाओं पर पड़ता है कैसा असर?

हिला किसी रिश्ते में पड़ती है तो वह उसको परफेक्ट बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ती।

जब भी कोई महिला किसी रिश्ते में पड़ती है तो वह उसको परफेक्ट बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ती। अपने रिश्ते में खुशियां लाने के लिए वह हर संभव कोशिश करती है।

औरतें सपने में भी इस बात की कल्पना नहीं कर सकती कि उनका ब्रेकअप हो या दिल टूट जाए क्योंकि वह टूटे रिश्ते का बोझ सहन नहीं कर सकती। मगर फिर भी अगर उनका रिश्ता टूट जाए तो इस असफल रिश्ते का असर उन पर साफ देखने को मिलता है। आज हम आपको उन्हीं बदलावों और प्रभावों के बारे में बताएंगे जो दिल टूटने के बाद महिलाएं में होते हैं।

1. डिप्रेशन होना

महिलाएं बहुत ज्यादा इमोशनल होती हैं। यही कारण है कि कुछ महिलाएं अपने टूटे रिश्ते का बोझ सह नहीं पाती। दिल टूटने के बाद उनके दिमाग में ईर्ष्या, उदासी, निराशा और क्रोध सारे अहसास एक साथ घूमने लगते हैं। इसकी वजह वह धीरे-धीरे डिप्रेशन की शिकार होने लगती है। अगर सही समय पर महिलाएं खुद को ना संभाले तो स्थिति और भी खराब हो सकती है।

2. बात-बात पर गुस्सा आना

ब्रेकअप के बाद महिलाएं अपने परिवार से अलग रहने लगती हैं। उदास, सुस्त रहने के कारण उनको बात-बात पर गुस्सा आने लगता है। गुस्सा और भी ज्यादा बढ़ जाता है जब वह अपने एक्स पार्टनर को खुश देखें। ये उदासी, गुस्सा कुछ पलों से लेकर कई महीनों तक हो सकती है। अगर आपके फ्रैंड या किसी महिला का रिश्ता या दिल टूटा है तो उसको संभालने की कोशिश करें।

3. कभी किसी से प्यार और विश्वास ना कर पाना

ब्रेकअप होने के बाद महिलाएं अकेले रहने लगती हैं। विश्वास और प्यार पर उनको भरोसा ही नहीं रहता। वह कभी किसी इंसान पर पूरे दिल से विश्वास नहीं कर पाती। उसको एेसा लगता है जैसे हर कोई उसके साथ दोस्ती सिर्फ दिखावे के लिए कर रहा है।

4. आदतों में बदलाव आना

रिश्ता टूटने के बाद अपनी आदतों में भी बदलाव लाने लगती हैं। पहले वह खुद को परफेक्ट दिखाने के लिए सज-सवर कर रहती थी। मगर रिश्ता टूटने के बाद वह अपनी तरफ ध्यान नहीं देती। पहले घंटों पर फोन पर लगी रहने वाली औरत अब फोन को देखती तक नहीं। उसको दुनिया से कोई लेना देना नहीं, अब वह सिर्फ अपनी तनहाई के साथ रहना पसंद करती है। ऐसे बदलाव उनके लिए खतरनाक हो सकते हैं।

<>

Back to top button