जाने धनतेरस के दिन क्या खरीदने और करने से आएगी घर में लक्ष्मी

धातु का बर्तन अगर पानी का बर्तन हो तो होगा ज्यादा अच्छा

पांच दिवसीय दीपोत्सव की शुरूआत आज शुक्रवार को धनत्रयोदशी यानी धनतेरस से होगी. पर्व की रौनक हर तरफ बिखरने लगी है. गणेश-लक्ष्मी की मूर्तियों, दीयों, पटाखों और सजावट की दुकानें सज गयी हैं.

वहीं इस दिन को कुबेर का दिन भी माना जाता है और धन सम्पन्नता के लिए कुबेर की पूजा की जाती है. इस दिन लोग मूल्यवान धातुओं का और नए बर्तनों-आभूषणों का क्रय करते हैं. उन्हीं बर्तनों तथा मूर्तियों आदि से दीपावली की मुख्य पूजा की जाती है. आज पूरे देश में धनतेरस का पर्व मनाया जा रहा है.

धनतेरस के दिन क्या जरूर खरीदें?

– धातु का बर्तन अगर पानी का बर्तन हो तो ज्यादा अच्छा होगा

– गणेश-लक्ष्मी की मूर्तियां दोनों अलग-अलग होनी चाहिए

– खील-बताशे और मिटटी के दीपक, एक बड़ा दीपक भी जरूर खरीदें

– चाहें तो अंकों का बना हुआ धन का कोई यंत्र भी खरीदें

– इसकी पूजा धनतेरस के दिन कर सकते हैं

5 दिनों तक चलने वाले महापर्व की शुरुआत धनतेरस से होती है. इस दिन से ही खरीदारी की शुरुआत हो जाती है. धनतेरस के दिन माता लक्ष्मी, भगवान कुबेर और धन्वंतरि की भी पूजा होती है. धनतरेस के दिन लोग घर में सुख-समृद्धि की कामना करते हैं. आइए जानते हैं कुछ उपाय जिसे अपनाकर आप अपने घर में समृद्धि ला सकते हैं.

धनतेरस के दिन करें ये महाउपाय, घर में आएगी समृद्धि

धनतेरस के दिन घर के मुख्य द्वार और घर के आंगन में दीपक का मुख दक्षिण दिशा की ओर करके साबुत अनाज पर रखकर जलाएं.

एक मुट्ठी साबुत चावल लें और उन्हें पीसकर उसमें गंगाजल और शुद्ध हल्दी मिलाएं.

अब घर के मुख्य द्वार पर और व्यापारिक स्थल पर शुभ मुहूर्त में ॐ लिखें.

मुख्य द्वार पर पीले फूल दोनों ओर लगाएं तथा भगवान कुबेर को पीले फूल और फल अर्पण करें.

छोटे बच्चों को पीली मिठाई खिलाएं तथा घर पर आई हुई सभी महिलाओं का आदर करें और उन्हें मिठाई खिलाएं.

एक चांदी या पीतल के बर्तन में अनाज भरकर अपने घर के पूजा स्थल पर रखें और केसर धूप दीप से पूजा अर्चना करें.

Back to top button