जाने आखिर क्यों लोग शराब की बोतल लेकर पहुंच गए विधायक के द्वार..

पूर्ण शराबबंदी का वादा कर सत्ता हासिल करने के बाद सरकारी शराब बिक्री से भी एक कदम आगे बढ़ते हुए शराब की होम डिलीवरी करने के राज्य सरकार के फैसले के खिलाफ भाजयुमो ने हाहाकारी प्रदर्शन किया।

आशुतोष मुखर्जी की रिपोर्ट

बिलासपुर : पूर्ण शराबबंदी का वादा कर सत्ता हासिल करने के बाद सरकारी शराब बिक्री से भी एक कदम आगे बढ़ते हुए शराब की होम डिलीवरी करने के राज्य सरकार के फैसले के खिलाफ भाजयुमो ने हाहाकारी प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारी bilaspur विधायक shailesh Pandey के वेयर हाउस रोड स्थित सरकारी बंगले पहुंचे।

जहां हाथों में तख्तियां लिए उन्होंने सवाल किया कि आखिर कांग्रेस सरकार को शराब से इतना मोह क्यो है ? क्योंकि चुनाव से पहले टी एस सिंह देव द्वारा जन घोषणा पत्र तैयार किया गया था जिसमें महिलाओं ने एक स्वर में पूर्ण शराबबंदी की मांग की थी। क्योंकि शराब के कारण ही पूरा परिवार तबाह हो रहा है।Know why people reached the MLA's door with a bottle of liquor.

इसी मुद्दे पर महिलाओं का अभूतपूर्व समर्थन भी कांग्रेस को हासिल हुआ था लेकिन सत्ता हासिल होते ही कांग्रेस ने इस मुद्दे को हाशिए पर धकेल दिया और आबकारी मंत्री तो कह भी चुके हैं कि शराबबंदी से समस्या उत्पन्न होती है। उन्होंने लॉक डाउन के दौरान भी कहा था कि शराब न मिलने से गरीबों को बहुत परेशानी हो रही है इसलिए शराब की बिक्री गरीब हित में है।

कांग्रेस सरकार के वादे और हकीकत में अंतर का विरोध करने के लिए भाजयुमो के कार्यकर्ता अपने साथ शराब की बोतल लेकर विधायक के बंगले पहुंच गए। हालांकि इस दौरान विधायक अपने निवास पर मौजूद नहीं थे इसलिए घंटे भर विरोध दर्ज कराने के बाद भाजयुमो कार्यकर्ता विधायक प्रतिनिधि को अपना ज्ञापन सौंपकर लौट गए, जिन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर बार-बार विरोध प्रदर्शन कर सरकार की आंख खोलने का प्रयास किया जाएगा।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button