कोहली का आक्रामक आचरण नैसर्गिक प्रतिक्रिया है – सैयद किरमानी

उन्होंने कहा, ‘नसीरुद्दीन शाह और हर किसी का अपना मत हो सकता है।

भारतीय टीम के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज सैयद किरमानी ने शुक्रवार को कहा कि क्रिकेट में छींटाकशी नई बात नहीं है और यह इस खेल में शुरुआत से चला आ रहा है।

किरमानी का यह बयान अभिनेता नसीरुद्दीन शाह के उस बयान के बाद आया है जिसमें उन्होंने ऑस्ट्रेलिया दौरे पर कप्तान विराट कोहली के आचरण की आलोचना की थी।

किरमानी ने कहा कि मैदान में कोहली का आक्रामक आचरण नैसर्गिक प्रतिक्रिया है। उन्होंने कहा, ‘नसीरुद्दीन शाह और हर किसी का अपना मत हो सकता है।

चीजों को देखने का हर किसी का अलग नजरिया होता है। मैं कोहली पर उनके बयान का विरोध नहीं कर रहा हूं। लेकिन हर किसी में कुछ चीजें नैसर्गिक होती है। इन नैसर्गिक चीजों को बदला नहीं जा सकता।’

किरमानी ने कहा, ‘दूसरे टेस्ट में भी हम भारी पड़ने वाले थे तभी तीसरे अंपायर ने गलती की, लेकिन हमने ‘जेन्टलमैन’ की भावना से क्रिकेट खेला।

मुझे इस पर काफी गर्व है। हमारे समय में भी छींटाकशी होती थी। यह कभी खत्म नहीं होगा।’

आपको बता दें कि तीसरे टेस्ट मैच में विराट कोहली के कैच आउट करार दिए जाने को लेकर काफी बवाल हुआ था।

तीसरे अंपायर के उस निर्णय के बाद क्रिकेट फैंस के साथ-साथ दुनियाभर के पूर्व क्रिकेटर भी दो भागों में बंट गए थे।

कुछ फैंस को कोहली के खिलाफ दिया गया ये फैसला गलत लगा, तो कुछ ने इस पर तीसरे अंपायर का बचाव किया।

कोहली ने तो पैट कमिंस के उस कैच के तुरंत बाद ही अपनी प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए अंपायर को कहा था कि उन्हें लगता है कि गेंद जमीन पर लग गई है।

आपको बता दें कि दूसरे टेस्ट मैच में विराट कोहली के आचरण को लेकर अभिनेता नसीरुद्दीन शाह ने भारतीय कप्तान की आलोचना की थी।

कोहली पर दिए गए इस बयान के बाद खुद शाह को भी काफी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा। उन्हें कोहली के फैंस ने सोशल मीडिया पर जमकर ट्रोल करते हुए खरी-खोटी सुनाई।

इतना ही नहीं शाह के साथ काम कर चुके उनके सह-अभिनेताओं ने भी शाह के इस बयान पर उनका साथ नहीं दिया था।

इसी बात पर अब किरमानी ने भी शाह को जवाब दिया है।प्रक्रिया से यह किया लेकिन दुर्भाग्यपूर्ण रहा कि कोहली ओर कुंबले मिलकर काम नहीं कर सके।

advt
Back to top button