कोलकाता: एक परिवार को ऑनलाइन यौन शोषण का करना पड़ा सामना

फोटो और घर का पता भी सोशल मीडिया और पोर्न साइट पर डाला गया है

कोलकाता के जादवपुर में रहने वाले एक परिवार को ऑनलाइन शोषण का सामना करना पड़ा है। उन्होंने इस शोषण से बचने के लिए अपने घर के बाहर सीसीटीवी भी लगवाए लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ।

उन्होंने अभी भी कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। उन्हें घर के बाहर कैमरा लगाने के अलावा हिंदी, अंग्रेजी और बंगाली भाषाओं में नोटिस भी लगाए हैं। दरअसल परिवार की दो महिलाओं का फोन नंबर, फोटो और घर का पता भी सोशल मीडिया और पोर्न साइट पर डाला गया है। जिसमें कहा जा रहा है कि इस परिवार में रहने वाली दो महिलाएं पैसे के लिए शारीरिक संबंध बनाती हैं।

परिवार में साइबर कैफे के मालिक, उनकी 27 वर्षीय नव विवाहिता पत्नी, बुजुर्ग माता-पिता और एक 40 वर्षीय बहन रहती हैं। परिवार को उस वक्त और अधिक दिक्कत का सामना करना पड़ा जब उनके घर के बाहर कई अनजान व्यक्ति दरवाजा खटखटाने लगे।

जिसके बाद इस परिवार को मामले की जानकारी पुलिस को देनी पड़ी और घर के बाहर सीसीटीवी भी लगवाए। लेकिन इससे भी समस्या हल नहीं हुई और दिन ढलते ही यहां आने वाले व्यक्तियों की संख्या बढ़ने लगी है।

परिवार ने घर के दरवाजे पर नोटिस लगाया है। जिसमें लिखा है”यदि आप यहां किसी भी ऐप या सोशल नेटवर्किंग साइट के माध्यम से आए हैं तो दरवाजा घंटी नहीं दबाएं। अन्यथा, हम पुलिस को सूचित करेंगे।” मामले पर कोलकाता पुलिस का कहना है कि वह जांच कर रहे हैं और जांच पूरी होने से पहले कोई भी जानकारी साझा नहीं कर सकते।

उन्होंने कहा कि इस मामले को प्राथमिकता दी जा रही है। ऐसे कई साइबर क्राइम होते हैं जो सभी सीमाओं को पार कर जाते हैं।” महिलाओं की फेक फेसबुक प्रोफाइल अक्तूबर माह में अपलोड की गई थीं। परिवार को शक है कि इसके पीछे उनके किसी जानने वाले का ही हाथ है। इसमें कोई रिश्तेदार या फिर पड़ोसी भी शामिल हो सकता है।

दोनों ही महिलाएं इस घटना से बेहद सदमे में हैं। उनका कहना है कि न केवल उनकी फेक प्रोफाइल डाली गई बल्कि उनके घर का पता भी विस्तार से बताया गया है।

यहां तक कि घर के पास के मेट्रो स्टेशन और किस इलाके में घर है इस बात की जानकारी भी दी गई है। मनोचिकित्सकों ने पीड़िताओं को मनोवैज्ञानिक चिकित्सा की सलाह दी है। उनका कहना है कि ऐसी घटनाओं से मानसिक स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव पड़ता है।<>

1
Back to top button