कोण्डागांव : इमली संग्राहको को हुआ 08 करोड़ से अधिक राशि का भुगतान

जिले में लक्ष्य से अधिक की हुई इमली खरीदी

कोण्डागांव, 15 अप्रैल 2021 : वन विभाग के जिला वनोपज सहकारी यूनियन मर्यादित दक्षिण कोण्डागांव द्वारा न्यूनतम समर्थन मूल्य योजना अंतर्गत लघु वनोपज का संग्रहण वित्तीय वर्ष 2020-21 एवं 2021-22 में किया गया। संघ मुख्यालय रायपुर द्वारा इमली खरीदी के लिए निर्धारित लक्ष्यों की पूर्ति हेतु 12 मार्च 2021 से 13 प्राथमिक लघु वनोपज समितियों के अधीन 155 ग्राम स्तर समूह एवं 31 हाट बाजार स्तर के स्व-सहायता समूहों के माध्यम से संग्राहकों एवं ग्रामीणों से न्यूनतम समर्थन मूल्य के आधार पर इमली खरीदी एवं संग्रहण कार्य प्रांरभ किया गया।

वित्तीय वर्ष 2020-21 एवं 2021-22

वित्तीय वर्ष 2020-21 एवं 2021-22 के निर्धारित लक्ष्य 20,000 क्विं के विरूद्ध 13 अप्रैल तक 32414.44 क्विं इमली ग्रामीणों से क्रय किया गया। जिसमें आटी इमली रू. 36 रूपये और फूल इमली 63 रूपये प्रति किलोग्राम की दर से क्रय किया गया है। जिसके लिए स्व-सहायता समूहों के बैंक खातों में कुल राशि 8.46 करोड़ रूपयों का स्थानांतरण किया गया है। जिससे संग्राहकों को तत्काल भुगतान सुनिश्चित हो सके। अभी तक समूहों के माध्यम से संग्राहकों को कुल 8.46 करोड राशि का नगद भुगतान किया जा चुका है।

महत्वपूर्ण बात यह भी है कि नारंगी वन परिक्षेत्र के पेरमापाल, रेंगागोदी, कोड़कापारा, तोतर, केजंग, चमई एवं कोण्डागांव वन परिक्षेत्र के खड़पड़ी, परोदा, पुसपाल, फरसपाल, हीरामांदला, करनपुर, मुनगापदर, मोहलई, मडानार, नगरी, सोनाबाल, बोटीकनेरा, पोलंग तथा मर्दापाल वन परिक्षेत्र के कडेनार, बेचा, कीलम, टेकापाल जैसे अति संवेदनशील क्षेत्रों से भी इस वित्तीय वर्ष में कुल 3133 क्विं इमली का संग्रहण हुआ एवं 1.12 करोड़ राशि का नगद भुगतान किया गया है।

इस संबंध में वनमंडलाधिकारी एवं पदेन प्रबंध संचालक उत्तम कुमार गुप्ता (भा.व.से.) ने बताया कि विभाग द्वारा ग्रामीणों से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर इमली खरीदी करने का मुख्य उद्देश्य ग्रामीणों को बिचोलियों से ग्रामीणों की आमदनी सुनिश्चित करते हुए उचित मूल्य प्रदान कर वित्तीय रूप से सशक्त करना है। जिसमें वन विभाग के समस्त कर्मचारियों का सराहनीय योगदान रहा है ।

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button