कोरबा पुलिस को अपहृता से नाबालिक बालिका को छुड़ाने में मिली सफलता, आरोपी न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया जेल

अरविन्द शर्मा:

कोरबा/कटघोरा: कोरबा पुलिस ने अपहृता से नाबालिक बालिका को सकुशल छुड़ाने में बड़ी सफलता हासिल की है।आरोपी बालिका को बहला फुसलाकर कर दीगर राज्य डालटनगंज झारखंड ले गया था। जहां पुलिस की ततपरता से आरोपी के संदेही ठिकानों पर घेराबंदी की गई और आरोपी को धरा गया जिसे न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजा गया है।

पुलिस अधीक्षक कोरबा भोजराज पटेल अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कोरबा कीर्तन राठौर द्वारा मामले की संवेदनशीलता व गम्भीरता को देखते हुए तत्काल निर्देश जारी किए जिसमे एसडीओपी कटघोरा रामगोपाल करियारे व थाना कटघोरा प्रभारी लखनलाल पटेल की विशेष निगरानी में पुलिस टीम गठित की गई और शीघ्र ही आरोपी की पता तलाश कर अपहृता को दस्तयाब करने के निर्देश दिए गए।

मामला संवेदनशील होने के नाते पुलिस टीम पूरी गम्भीरता से विवेचना में जुटी,इस दौरान पुलिस की पूछताछ व पतासाजी से सामने आया कि अपहृता नाबालिग बालिका को दीगर राज्य अपहरण कर झारखंड ले गया है।तथ्यों की पुष्टि होने पर शीघ्र ही वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में टीम दीगर राज्य भेजी गई।सायबर सेल टीम द्वारा लगातार आरोपी की पतासाजी एवम लोकेशन प्राप्त किया जा रहा था।लोकेशन के आधार पर पुलिस टीम को झारखंड के जिला डालटनगंज रवाना किया गया जहां आरोपी घेराबंदी के दौरान पकड़ा गया और अपहृता नाबालिग को छुड़ाया गया।

आरोपी को हिरासत में लेकर सख्ती से पूछताछ करने पर इसने अपना जुर्म कबूल कर लिया है।जिसमे पर्याप्त सबूत पाए जाने पर आरोपी को न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया है।

उक्त मामले में आरोपी की धरपकड़ व दीगर राज्य जाने वाली टीम में जड़गा चौकी प्रभारी ASI संतराम सिन्हा, ASI अफसर खान चौकी जड़गा,आर. 480 रविन्द्र मरावी,आर.630 संजय खूंटे एवम सायबर सेल की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

पुलिस अधीक्षक कोरबा भोजराज पटेल द्वारा सभी थाना चौकियों के प्रभारियों को प्रत्येक प्रकरण का शीघ्रता से निदान करने निर्देशित किया गया है जिसमे विशेष रूप से महिलाओं, बच्चों, दिव्यांगों, वरिष्ठजनों के विरुद्ध किसी भी अपराध में प्राथमिकता के आधार पर आरोपियों की गिरफ्तारी और विधिवत कार्यवाही करने के भी सख्त निर्देश दिए हैं।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button