कोरबा : राशन-सब्जियों की जमाखोरी और कालाबाजारी पर होगी कड़ी कानूनी कार्रवाई

कलेक्टर कौशल ने दिये निर्देश, प्रशासनिक अधिकारी करेंगे सतत् निगरानी

कोरबा 10 अप्रैल 2021 : कोरोना वायरस के फैलाव से बदलते माहौल के बीच जिले के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में चावल-दाल जैसी राशन सामग्रियों और सब्जियों के दाम बढ़ने तथा उनकी कालाबाजारी एवं जमाखोरी की अपुष्ट खबरों को कलेक्टर किरण कौशल ने गम्भीरता से लिया है। उन्होंने लॉकडाउन के पहले दो दिन किसी भी परिस्थिति में अति आवश्यक चीजों को, सामान्य दिनों के दामों से अधिक दाम पर नहीं बेचने की अपील दुकानदारों से की है।

कलेक्टर ने कोरोना वायरस संक्रमण से लड़ाई में सभी व्यापारियों से अपना सहयोग देने की अपील की है और राशन, सब्जियों आदि की कालाबाजारी तथा जमाखोरी नहीं करने को कहा है। कौशल ने सभी व्यापारियों और राशन दुकानों में उपलब्ध सामग्रियों का स्टॉक निरीक्षण करने के निर्देश प्रशासनिक अधिकारियों को दिये हैं।

कौशल ने तहसीलदारों एवं पटवारियों को निर्देशित किया है कि लॉकडाउन के पहले दो दिन ग्रामीण तथा शहरी क्षेत्रों में आलू-प्याज, तेल, दाल, चावल, दूध, सब्जी, नमक आदि जरूरी खाद्य सामग्री उचित दामों पर ही मिलना सुनिश्चित करें। किसी भी दुकानदार द्वारा अधिक दाम में चीजों की बिक्री की सूचना मिलने पर संबंधित विक्रेता के विरूद्ध विधिसम्मत प्रकरण तैयार कर कार्यवाही सुनिश्चित करें।

कलेक्टर कौशल

कलेक्टर कौशल ने यह भी निर्देश दिये हैं कि यदि कोई दुकानदार, संस्थान आवष्यक वस्तुओं को एमआरपी से अधिक दाम में बेचते हुये पाया जाता हैं तो उसके विरूद्ध भारतीय दण्ड संहिता 1860 के तहत् कड़ी कानूनी कार्यवाही की जायेगी। कलेक्टर कौशल ने अधिकारियों को यह भी निर्देश दिये हैं कि आने वाले दो दिन तथा लॉकडाउन के दौरान भी किसी भी माध्यम से प्राप्त शिकायत, फीडबैक पर त्वरित एवं प्रभावी कार्यवाही सुनिश्चित करें तथा व्हाट्सअप के माध्यम से नियमित रिपोर्टिंग भी करें।

कलेक्टर किरण कौशल ने दवाई, फल, सब्जी, राशन, दूध, पशु चारा सही दाम पर तथा आवश्यक मात्रा में उपलब्धता सुनिश्चित कराने और इसकी निगरानी के लिए प्रशासनिक अधिकारियों एवं सेक्टर ऑफिसर्स को जिम्मेदारी दी है। अगले दो दिन अधिकारी कोरबा जिले के सम्पूर्ण नगरीय क्षेत्रों के साथ-साथ जिले के पॉंचों तहसीलों में भी आवश्यक वस्तुओं की कालाबाजारी रोकने हेतु आवश्यकतानुसार क्षेत्रों का भ्रमण करके सघन निगरानी करेंगे। हर दिन दुकानों पर जाकर आवश्यक वस्तु-सामग्रीयों के अधिकतम खुदरा मूल्य (एमआरपी) और स्टॉक की जानकारी लेंगे। ग्राहकों से भी रेट और सामग्री की क्वालिटी के बारे में फीड बैक भी लेंगे।

कलेक्टर बोली: सभी करें सहयोग, जरूरत अनुसार ही खरीदें सामग्री- संपूर्ण जिले में 12 अप्रैल से लागू लॉकडाउन को देखते हुए कलेक्टर ने साफ कहा है कि अगले दो दिन लोगों की दैनिक उपयोग की चीजों वाली राशन और किराना दुकानें निर्धारित समय पर ही खुले व बंद की जाए।

कलेक्टर ने कहा

कलेक्टर ने कहा कि लोग बिना किसी घबराहट और शंका-आशंकाओं के अपने घरों में रहें, स्वयं को साफ और स्वस्थ रखें। सामानों की अतिरिक्त खरीदी के लिये दुकानों में भीड़ न लगायें और न ही अतिरिक्त सामान खरीदकर घरों में जमा करें, ताकि बाजार में जरूरी सामान की कमीं न हो। और दूसरे लोगो को सामान आसानी से सामान्य कीमत पर मिल सके।

कलेक्टर ने लोगों से अपील की है कि वे अपनी जरूरतों के हिसाब से ही राशन और खाने-पीने की सामग्री खरीदें तथा घरों में रखें। अगले दो दिन भी जरूरत पड़ने पर ही दुकानों पर जायें और सामान खरीदकर लायें। उन्होने कहा कि जिला वासियों को राशन और खाने-पीने की चीजें, दवाईयां आदि अति जरूरी सामान उपलब्ध कराने के लिये सभी जरूरी इंतजाम प्रशासन द्वारा किये गए हैं। जिले में कोविड नियंत्रण को लेकर प्रशासन सजग है तथा सभी लोगों से प्रशासन के सहयोग की अपेक्षा है।

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button