कोरिया ओपन सुपर सीरीज के फाइनल में पहुंची सिन्धु

भारत की बैडमिंटन स्टार वर्ल्ड नंबर-4 पीवी सिंधु कोरिया ओपन सुपर सीरीज के फाइनल में पहुंच गई हैं. ओलंपिक की सिल्वर मेडलिस्ट सिंधु ने शनिवार को सेमीफाइनल में वर्ल्ड नंबर-7 चीन की ही बिंजिआओ को 21-10, 17-21, 21-16 से मात दी. सिंधु ने मुकाबले की धमाकेदार शुरुआत की और पहला गेम महज 16 मिनट में जीत लिया, हालांकि उन्होंने दूसरा गेम गंवाया. लेकिन सिंधु ने जबर्दस्त वापसी की और तीसरे गेम में चीनी चुनौती को ध्वस्त कर डाला. इसके साथ ही सिंधु भारतीय बैडमिंटन के लिए इतिहास रचने से महज एक कदम दूर हैं.

जापान की ओकुहारा से बदला लेने का मौका

अब फाइनल में 22 साल की हैदराबादी बाला सिंधु का सामना रविवार को हमउम्र नोजोमी ओकुहारा से होगा. इसी जापानी शटलर ने पिछले महीने वर्ल्ड चैंपियनशिप के फाइनल में सिंधु को हराया था. वर्ल्ड नंबर-9 ओकुहारा ने सेमीफाइनल में 2016 की चैंपियन वर्ल्ड नंबर-2 हमवतन एकाने यामागुची को 21-17, 21-18 से हराकर फाइनल में जगह बनाई है.

कोरिया में सिंधु बन सकती हैं पहली चैंपियन
सिंधु अगर कोरिया ओपन जीतने में कामयाब रहती हैं, तो वह इस टूर्नामेंट पर कब्जा करने वाले पहली भारतीय खिलाड़ी होंगी. 1991 में शुरू हुए कोरिया ओपन के 26 साल के इतिहास में अबतक किसी भारतीय को खिताबी सफलता नहीं मिली है.

हेड टु हेड-
वर्ल्ड रैंकिंग की बात करें, तो सिंधु (नंबर 4) ने ओकुहारा (नंबर 9) को पहले ही पीछ छोड़ दिया है. लेकिन दोनों दोनों के बीच अबतक 7 मुकाबले हुए हैं. जिनमें से 4 बार ओकुहारा ने बाजी मारी.

सिंधु VS ओकुहारा ( 3- 4)
1. अगस्त 2017- वर्ल्ड चैंपियनशिप: ओकुहारा जीतीं (21-19, 20-22, 22-20)

2. अप्रैल 2017- सिंगापुर ओपन: सिंधु जीतीं (10-21, 21-15, 22-20)

3. अगस्त 2016- रियो ओलंपिक: सिंधु जीतीं (21-19, 21-10 )

4. फरवरी 2016- एशिया टीम चैंपियनशिप: ओकुहारा जीतीं (18-21, 21-12, 21-12

5. जनवरी 2015- मलेशिया मास्टर्स – ओकुहारा जीतीं (19-21, 21-13,21-8)

6. नवंबर 2014- हांग कांग ओपन- ओकुहारा जीतीं (21-17, 13-21, 21-11)

7. जुलाई 2012- अंडर-19 यूथ चैंपियनशिप- सिंधु जीतीं (18-21, 21-17, 22-20)

Back to top button