छत्तीसगढ़

कोटवार संघ एसोसियेशन आफ छत्तीसगढ़ – गोबरा नवापारा ने दिया नायब तहसीलदार को मुख्यमंत्री के नाम पर ज्ञापन

कांग्रेस पार्टी द्वारा चुनाव के पहले किये वायदे को अपने आवेदन के माध्यम से याद दिलाया

अभनपुर। अभनपुर के गोबरा नवापारा नगर कोटवार संघ एसोसियेशन आफ छत्तीसगढ़ – गोबरा नवापारा के द्वारा अपनी मांगों को लेकर अभनपुर के गोबरा नवापारा उपतहसील कार्यालय में नायब तहसीलदार को मुख्यमंत्री के नाम पर ज्ञापन सौंपा । जिसमे कांग्रेस पार्टी द्वारा चुनाव के पहले किये वायदे को अपने आवेदन के माध्यम से याद दिलाया जिसमे लिखा गया है कि माननीय भूपेश बघेल जी . मुख्यमंत्री छत्तीसगढ़ शासन आपने पाटन के सम्मेलन में आपके द्वारा की गई घोषणा को अमल में लाने हेतु ध्यानाकर्षण पत्र , माननीय महोदय , सविनय अवगत होने कि कोटवारी के दिनांक 23 फरवरी 2019 पाटन में आयोजित प्रांतीय सम्मेलन में मुख्य अतिथि के आसन्दी से आपने अपने उद्बोधन में घोषणा की थी कि कोटवारों को नियमित कर्मचारी का दर्जा देते हुये मालगुजारी भूमि का भूमिस्वामी अघिकार जो भा.ज.पा. के शासन काल में छीन लिया गया था उसे पुनः वापस भू – स्वमित्व का अधिकार दिया जाएगा इसके अलावा आपने कोटवारों के लिये पद रिक्त होने पर अनुकम्पा नियुक्ति देने का प्रावधान लाने का भी आश्वासन दिया था ।

परन्तु एक वर्ष से ज्यादा वक्त बीत जाने के बावजूद अभी तक उस पर अमल नहीं किया जा रहा है जिससे प्रदेश के कोटवारों में असंतोष की भावना पनप रही है साथ ही आपने तथा कांग्रेस पार्टी के संकल्प पत्र में जो संकल्प लिया था उसे आप पुरा करते आ रहे हैं जिसके तहत किसानों की कर्ज माफी समर्थन मूल्य पर 2500.00 रुपये की धान खरीदी के अलावा शिक्षा कर्मियों का संविलियन भी किया जा चुका है । संकल्प पत्र में कोटवारों को भी चतुर्थ वर्ग का कर्मचारी घोषत करने की बात उल्लेखित है परन्तु इस पर भी किसी प्रकार की पहल नहीं की जा रही है ।

संघ के प्रतिनिधि मण्डल ने विधान सभा सत्र दौरान दो बार आपका इस संदर्भ में ज्ञापन देकर ध्यानाकर्षित किया जा चुका है परन्तु अभी तक कोई ठोस निर्णय नहीं लिया जा सका है । वर्तमान में कोरोना वायरस के दुष्प्रभाव के रोकथाम हेतु प्रदेश के कोटवार भी राज्य शासन के साथ हर कदम में खड़े होकर कोरोना वायरीस की भूमिका निभा रहे है जिसके चलते प्रदेश के विभिन्न जिले में चार कोटवार साथी भी डियूटी के दौरान शहीद हो गये है परन्तु विडम्बना है कि अभी तक मृतक कोटवार के परिवार को न तो आर्थिक सहायता दी जा रही है और न उनके परिवार के सदस्य को कोटवार नियुक्त किया जा रहा है । प्रदेश के 16000 कोटवारों को निम्नलिखित समस्याओं का त्वरित निराकरण करते हुये आपके द्वारा की गई घोषणा के अनुसार शासनादेश जारी करने की महान कृपा करेंगे ।

प्रमुख मांगे

  1. कोटवारों को चतुर्थ वर्ग का शासकीय कर्मचारी घोषित किया जावें

  2. मालगुजारी जमीन पर भूमि स्वामी के अधिकार वापस दिया जावें ।

3.लाकडाऊन एवं कोरेन्टिन सेंटर में ड्यूिटी में लगे सभी कोटवारों का 50 लाख का बीमा करवाया जावें तथा कोटवारों को अतिरिक्त भत्ता व सुरक्षा कीट उपलब्ध कराया जावें । 4.लॉकडाऊन ड्यूिटी के दौरान शहीद हुये उसके परिवार सदस्य को अनुकम्पा नियुक्ति दी जावें ।

कोटवार संघ द्वारा अपनी आवाज को बुलंद करते कांगेस सरकार को अपने घोषणा पत्र के अनुसार वायदे को पूरा करने का याद दिलाया गया।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button