क्राइमबड़ी खबरमनोरंजन

धर्मा प्रोडक्शन से जुड़े डायरेक्टर क्षितिज को एनसीबी ने किया गिरफ्तार, घर पर छापे के दौरान मिला था गांजा!

एनसीबी धर्मा प्रोडक्शन से जुड़े डायरेक्टर क्षितिज रवि प्रसाद को पूछताछ के बाद एनसीबी ने गिरफ्तार कर लिया है। एनसीबी के सूत्रों के मुताबिक क्षितिज रवि प्रसाद के घर पर छापे के दौरान गांजा मिला था।

एनसीबी धर्मा प्रोडक्शन से जुड़े डायरेक्टर क्षितिज रवि प्रसाद को पूछताछ के बाद एनसीबी ने गिरफ्तार कर लिया है। एनसीबी के सूत्रों के मुताबिक क्षितिज रवि प्रसाद के घर पर छापे के दौरान गांजा मिला था। बता दें कि गिरफ्तार किए गए ड्रग्स पैडलर अनुज केशवानी ने क्षितिज प्रसाद के नाम का खुलासा किया था। उन पर ड्रग पेडलर से ड्रग्स खरीदने का आरोप है। शुक्रवार को एनसीबी ने अनुभव चोपड़ा से भी पूछताछ की थी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक हाल ही में कुछ फोटोज सामने आए थे, जिनमें धर्मा प्रोडक्शन के एक्जीक्यूटिव प्रोड्यूसर क्षितिज प्रसाद और असिस्टेंट डायरेक्टर अनुभव चोपड़ा एक ड्रग पेडलर के साथ खड़े दिख रहे थे। ड्रग कनेक्शन में इस फोटो को ही क्षितिज प्रसाद और अनुभव चोपड़ा के खिलाफ सबसे बड़ा सबूत माना जा रहा है। जिसके चलते क्षितिज की गिरफ्तारी हुई है।

वहीं दूसरी ओर सुशांत सिंह राजपूत की मौत से संबंधित ड्रग्स केस में शनिवार को बयान दर्ज कराने के लिए अभिनेत्री दीपिका पादुकोण के दक्षिण मुंबई में एनसीबी अतिथि गृह पहुंचने के कुछ देर बाद उनकी प्रबंधक करिश्मा प्रकाश भी पूछताछ के लिए वहां पहुंचीं। बता दें कि दीपिका पादुकोण के अलावा श्रद्धा कपूर और सारा अली खान से भी एनसीबी की पूछताछ जारी है।मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक श्रद्धा कपूर ने पूछताछ के दौरान ये बात कही है कि फिल्म छिछोरे के शूट के दौरान सुशांत सिंह राजपूत अपनी वैन में जाकर गांजा पिया करते थे। हालांकि इस बात की आधिकारिक जानकारी अभी तक सामने नहीं आई है।

गौरतलब है कि सुशांत सिंह राजपूत की मामले में एनसीबी ड्रग्स एंगल की जांच कर रहा है। ड्रग्स के लेन-देन में अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती सहित कई लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इसके बाद बॉलीवुड की कई अभिनेत्रियों के ड्रग्स के लेन-देन और सेवन करने की बात का खुलासा हुआ है। इस मामले में दीपिका पादुकोण के नाम तब खुलासा हुआ जब उनकी मैनेजर करिश्मा प्रकाश की व्हाट्सएप चैट सामने आई। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो दीपिका करिश्मा से ड्रग्स के लेन-देन पर बात कर रही हैं।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button