छत्तीसगढ़

आचार संहिता के दौरान बांटी जा रही थी श्रम किट, कांग्रेसियों ने किया हंगामा

बिलासपुर।

आचार संहिता के दौरान भी मतदाताओं को लुभाने रिझाने के लिए राजनैतिक दल कई तरह के हथकंडे अपना रहे हैं। सरकारी योजना के तरह जो सामग्री आचार संहिता लागू होने से पहले ही बांटी जानी थीं, वह समय पर नहीं बटीं। अब चुनाव के दौरान फायदा भुनाने के मकसद से नेता इसका वितरण करने निकल पड़े।

बुधवार की दोपहर श्रम विभाग के बृहस्पति बाजार स्थित गोदाम के सामने मजदूरों को बांटने के लिए श्रम किट एक वाहन में लोड किए गए थे। इन्हें मजदूरों को बाजार में बांटने के लिए ले जाने की तैयारी थी। वाहन में 1000 नग श्रम किट ले जाए जा रहे थे। इसकी भनक कांग्रेसियों को लग गई।

तत्काल मौके पर पहुंचे कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने वाहन को घेर लिया और इसकी शिकायत पुलिस और निर्वाचन कार्यालय में की। इसके बाद सिविल लाइन पुलिस ने मौके पर पहुंच कर वाहन को जप्त कर लिया है। इसके अलावा निर्वाचन कार्यालय की उड़नदस्ता टीम भी सिविल लाइन थाने पहुंच गई है।

पूरे मामले पर पुलिस और श्रम विभाग दोनों जांच में जुटी है। सामान सप्लायर हिमांशु पाराशर का कहना है उसे श्रम विभाग ने किट सप्लाई का आदेश दिया था। प्रदेश में अब तक एक लाख तीस हजार किट वह सप्लाई की जा चुकी है। इसी ऑर्डर के तहत वह 1000 पीस किट वितरण के लिए ले जाया जा रहा था।

उसके पास बकायदा आदेश की कॉपी भी है। किट सप्लाई का आदेश उसे श्रम आयुक्त पीएस एल्मा ने दिया है। पूरे मामले पर निर्वाचन कार्यालय और पुलिस जांच में जुटी है। इधर कांग्रेसियों ने सिविल लाइन थाना पहुंचकर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की और मतदान प्रभावित करने का आरोप लगाया है।

Tags
Back to top button