आंध्र प्रदेश में सेप्टिक टैंक में सफाई के लिए उतरे 7 मजदूरों की मौत

ग्रामीणों ने टैंक की छत हटाकर उन्हें बाहर निकाला अस्पताल ले जाते समय रास्ते में चार की मौत हो गई और तीन ने अस्पताल में दम तोड़ दिया।

विजयवाड़ा: आंध्र प्रदेश के चित्तूर जिले में एक निजी मत्स्य पालन केंद्र के बाड़े के सेप्टिक टैंक को साफ करने के दौरान सात सफाईकर्मियों की मौत हो गई। जिले के पलमानेरू ब्लॉक में मोरम गांव के वेंकटेश्वर मछली पालन केंद्र में यह घटना घटी।

[responsivevoice_button voice=”Hindi Female” buttontext=”अगर आप पढ़ना नहीं चाहते तो क्लिक करे और सुने”]

सफाईकर्मी जिस सेप्टिक टैंक की सफाई कर रहे थे,उसमें कचरा डाला जाता है। पहले टैंक में मौजूद चार कर्मी बेहोश हो गए। उसके बाद उन्हें बचाने के प्रयास में टैंक में उतरे तीन और कर्मियों की हालत बिगड़ने लगी।

ग्रामीणों ने टैंक की छत हटाकर उन्हें बाहर निकालाअस्पताल ले जाते समय रास्ते में चार की मौत हो गई और तीन ने अस्पताल में दम तोड़ दिया।आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि टैंक में जहरीली गैस बनने के कारण कर्मियों की मौत हुई है। जिला प्रशासन ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं।

कर्मियों के परिजनों का आरोप है कि टैंक में उतरने के लिए उन्हें सुरक्षा उपकरण नहीं दिए गए थे। कंपनी ने प्रत्येक पीड़ित परिवार को 15 लाख रुपये अनुग्रह राशि देने की घोषणा की है। राज्य सरकार ने भी प्रत्येक परिजन को 10 लाख रुपये देने की घोषणा की है।

new jindal advt tree advt
Back to top button